Wrestlers Strike | ‘नहीं छोडूंगा अध्यक्ष पद, किसी एथलीट का उत्पीड़न नहीं हुआ’, पहलवान विनेश फोगट के आरोप पर बृजभूषण शरण सिंह की सफाई

PTI Photo

नई दिल्ली: देश के कई बड़े पहलवान दिल्ली (Delhi) के जंतर मंतर (Jantar Mantar) पर भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह (Brij Bhushan Sharan Singh) के तानाशाही रवैये के खिलाफ धरने पर बैठे है। इस बीच, इसे लेकर बृजभूषण शरण सिंह ने अपनी सफाई दी है। उन्होंने कहा कि, जैसे मुझे पता चला धरना दिया है, आरोप क्या है मुझे नहीं पता था, पर मैं तुरंत फ्लाइट की टिकट लेकर आया। सबसे बड़ा आरोप जो विनेश ने लगाया है, क्या कोई सामने है जो कह सके कि फेडरेशन ने किसी एथलीट का उत्पीड़न किया? कोई तो होना चाहिए।

 किसी एथलीट का उत्पीड़न नहीं हुआ 

पहलवानों के आरोपों पर भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष  ने कहा कि, क्या पिछले दस सालों से उन्हें फेडरेशन से कोई दिक्कत नहीं थी? मुद्दे तब सामने आते हैं जब नए नियम और विनियम लाए जाते हैं। किसी एथलीट का उत्पीड़न नहीं हुआ है। अगर हुआ है तो मैं फांसी पर लटक जाऊंगा। इसमें किसी बड़े आदमी का हाथ है, किसी बड़े उद्योगपति का हाथ है, ये साजिश है।

 

 नहीं छोड़ूंगा डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष का पद 

उन्होंने यह भी कहा है कि, मैं डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष का पद नहीं छोड़ूंगा लेकिन मैं सीबीआई या पुलिस द्वारा जांच के लिए तैयार हूं। उन्होंने पहलवानों के धरने को साजिश बताते हुए कहा कि, मेरे खिलाफ इस साजिश के पीछे एक उद्योगपति का हाथ है। जान से मारने की धमकी मिलने पर विनेश ने पुलिस से संपर्क क्यों नहीं किया। 

यह भी पढ़ें

कई लड़कियों का यौन उत्पीड़न

उन्होंने यह भी कहा कि, कोच महिलाओं को प्रताड़ित कर रहे हैं और फेडरेशन के चहेते कुछ कोच महिला कोचों के साथ भी बदसलूकी करते हैं। वे लड़कियों का यौन उत्पीड़न करते हैं। डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष ने कई लड़कियों का यौन उत्पीड़न किया। रेसलर विनेश फोगाट ने यह भी कहा कि,  मैं महिला पहलवानों के यौन उत्पीड़न के 10-20 मामलों के बारे में जानती हूं। कई कोच और रेफरी शामिल किए गए हैं। जब तक दोषियों को सजा नहीं मिलती हम धरने पर बैठेंगे। किसी भी इवेंट में कोई एथलीट हिस्सा नहीं लेगा।

 

मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित किया: विनेश फोगट

धरने पर बैठे पहलवान विनेश फोगट ने कहा कि, टोक्यो ओलंपिक में हार के बाद डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष ने मुझे ‘खोटा सिक्का’ कहा। डब्ल्यूएफआई ने मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित किया। मैं हर दिन अपने जीवन को समाप्त करने के बारे में सोचती थी। अगर किसी पहलवान को कुछ होता है तो जिम्मेदारी WFI अध्यक्ष पर होगी। महिला पहलवान विनेश फोगाट ने कहा कि,  मुझे डब्ल्यूएफआई (भारतीय कुश्ती महासंघ) के अधिकारियों से जान से मारने की धमकी मिली है।

ताजा समाचार

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here