भारत के अलावा इन देशों में भी विराजमान हैं बाबा बर्फानी, अमरनाथ जैसी हिमलिंग

0
182
New Delhi: प्राकृतिक बर्फानी शिवलिंग (Baba Barfani shivling) के दर्शन के लिए हजारों श्रद्धालु आते हैं। हिमालय की चोटियों में बसी इस गुफाा में भगवान शिव, माता पार्वती और गणेशजी हिम स्वरूप में विराजमान हैं।

पुराणों में बताया जाता है कि अमरनाथ गुफा में ही भगवान शिव ने माता पार्वती को अमरत्व की कथा सुनाई थी। वैसे बर्फानी शिवलिंगनुमा आकृतियां केवल भारत में ही नहीं है बल्कि दुनियों के कई और भी देशों की गुफाओं में ये आकृतियां (Similar to Amarnath Baba Barfani shivling in World) देखने को मिल जाती हैं। आइए जानते हैं बाबा बर्फानी जैसी है ऐसी आकृतियों के बारे में…

ऑस्ट्रिया में बाबा बर्फानी

यूरोप के एक देश ऑस्ट्रिया के सल्जबर्ग के पास वरफेन की गुफा में बाबा बर्फानी जैसी एक आकृति बनती है। यह प्राकृतिक आकृति अमरनाथ के शिवलिंग से भी कई गुना बड़ी है। इसके आसपास छोटे-छोटे शिवलिंग जैसी आकृतियां देखने को मिल जाएंगी। इसे दुनिया की सबसे बड़ी गुफा बताया जाता है और अंदर जाने के लिए खतरनाक रास्ते से होकर गुजरना पड़ता है। इस गुफा को 1879 में खोजा गया था। इस हिमलिंग को देखने का क्रम मई के महीने में शुरू होता है और यह अक्टूबर तक चलता है।

हेरिटेज गुफा अमरनाथ जैसे शिवलिंग

यूरोप महाद्वीप में स्थित स्लोवाकिया में भी बाबा बर्फानी जैसी प्राकृतिक हिमलिंग बनती है। स्लोवाकिया के दोबसीना स्थित दोबसिंस्का गुफा में यह हिमलिंग बनता है। यह गुफा यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज की सूची में शामिल है। साल 1870 में माइनिंग इंजीनियर ई. रुफीनी ने इस गुफा का पता लगाया था। यह यूरोप की पहली ऐसी गुफा है, जिसको बिजली से जोड़ा गया है।

स्विट्जरलैंड में हिमलिंग

अपनी खूबसूरती के लिए मशहूर स्विट्जरलैंड और इसके मिटेलालालिन शहर में स्थित गुफा को फेयरी ग्लेशियर के नाम से जाना जाता है। इस गुफा में भी अमरनाथ जैसे हिमलिंग बनती है। करीब 70 फुट लंबी सुरंग से गुजरकर हिमलिंग को देखने लोग जाते हैं। गुफा में अब रंग-बिरंगी रोशनी की व्यवस्था कर दी गई है, जिससे यहां पर बर्फ से बनी प्राकृतिक आकृतियां देखने लायक होती हैं।

अलास्का में बाबा बर्फानी

अलास्का में सालभर बर्फ देखी जा सकती है और मौसम भी अचानक बदल जाता है। ग्लोबल वॉर्मिंग के कारण यहां बर्फ से कई तरह की बर्फीली आकृतियां बनती रहती हैं। अलास्का के शहर मेंडेनहाल में छोटे-बड़े कई तरह के शिवलिंग देखने को मिलते हैं। साथ ही सांप, मछलियां जैसी आकृतियां देखने को मिल जाएंगी। यही मेंडेनहॉल ग्लेशियर आइस केव्स की खासियत बन गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here