Saturday, September 24, 2022

Raju Srivastav: थोड़ी देर में राजू श्रीवास्तव का अंतिम संस्कार, अंतिम सफर पर निकले ‘गजोधर भैया’

वेबवार्ता: अपनी कॉमेडी और मजेदार चुटकुलों से सबको हंसाने वाले, हम सभी के प्यारे ‘गजोधर भैया’ (Raju Srivastav News) अब इस दुनिया में नहीं हैं। हमेशा लोगों को हंसाने और उनकी दुनिया में रंग भरने वाले राजू श्रीवास्तव का 21 सितंबर की सुबह 10 बजकर 20 मिनट पर निधन हो गया। करीब 42 दिन से मौत से जंग लड़ रहे राजू श्रीवास्तव आखिरकार जंग हार गए और सबको रोता-बिलखता छोड़ गए। उनका अंतिम संस्कार थोड़ी देर में दिल्ली के निगमबोध घाट पर किया जाएगा।

58 वर्षीय राजू श्रीवास्तव (Raju Srivastav News) का इलाज दिल्ली के एम्स में चल रहा था। डॉक्टरों की एक टीम दिन-रात उनकी निगरानी में थी। राजू श्रीवास्तव का एम्स में ही नई तकनीक से पोस्टमॉर्टम किया गया। इस वर्चुअल ऑटोप्सी में 15 से 20 मिनट का समय लगा। इसके बाद राजू श्रीवास्तव का पार्थिव शरीर परिवार को सौंप दिया गया। इसके बाद राजू के पार्थिव शरीर को 21 सितंबर को ही एम्स से दशरथपुरी ले जाया गया था। दशरथपुरी में राजू श्रीवास्तव के भाई का घर है। यहां पर उनके पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है। राजू श्रीवास्तव के आखिरी दर्शन के लिए आने-जाने वालों का तांता लगा है। राजू का चेहरा देख हर किसी की आंखें नम हो गईं।

अंतिम सफर पर राजू श्रीवास्तव

राजू श्रीवास्तव (Raju Srivastav Funeral) के परिवार के लोग थोड़ी देर में निगमबोध घाट पहुंच रहे हैं। अंतिम दर्शन के बाद राजू श्रीवास्तव की अंतिम यात्रा निकल चुकी है। उनके पार्थिव शरीर को एंबुलेंस में रखा गया है, जिसे फूलों से सजाया गया है। उस पर राजू श्रीवास्तव की एक बड़ी सी तस्वीर लगी है। परिवार के लोग साथ हैं।

राजू श्रीवास्तव (Raju Srivastav Funeral) के अंतिम दर्शन के लिए लोगों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी है। सभी की आंखें नम हैं। राजू श्रीवास्तव के पार्थिव शरीर को निगमबोध घाट ले जाया जा रहा है। बताया जा रहा है कि अंतिम संस्कार दिल्ली में करने का फैसला राजू श्रीवास्तव के परिवार का ही था।

काम नहीं आईं दुआएं और पूजा-पाठ

राजू श्रीवास्तव को 10 अगस्त को एम्स में भर्ती करवाया गया था। जिम में वर्कआउट करते समय उनके सीने में अचानक दर्द हुआ और वह जमीन पर गिर पड़े। राजू श्रीवास्तव को बेहोशी की हालत में ही एम्स ले जाया गया था। वहां डॉक्टरों ने बताया कि राजू श्रीवास्तव को वर्कआउट करते हुए कार्डियक अरेस्ट हुआ था। तभी से राजू श्रीवास्तव बेहोश थे और वेंटिलेटर पर थे। हालांकि बीच-बीच में उनकी शरीर में थोड़ी बहुत हरकत हुई थी और सुधार की बात भी कही जा रही थी। पर राजू श्रीवास्तव पूरी तरह होश में नहीं आ पाए। लाखों फैंस की दुआएं और पूजा-पाठ भी होनी के आगे व्यर्थ साबित हुईं।

शोक में फिल्म-टीवी इंडस्ट्री, पीएम मोदी ने भी दी श्रद्धांजलि

राजू श्रीवास्तव के जाने से पूरी फिल्म और टीवी इंडस्ट्री शॉक में हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी राजू श्रीवास्तव के निधन पर शोक जताया। अर्चना पूरण सिंह से लेकर कपिल शर्मा, अजय देवगन, अक्षय कुमार, अनुपम खेर, शेखर सुमन समेत तमाम हस्तियों ने राजू श्रीवास्तव के जाने को बड़ी क्षति बताया और शोक जताया।

राजू श्रीवास्तव के एम्स में भर्ती होने के बाद से ही राजनाथ सिंह और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उनकी पत्नी शिखा श्रीवास्तव के संपर्क में थे। उन्होंने राजू श्रीवास्तव की पत्नी को फोन करके हर संभव मदद का वादा किया था। यही नहीं, राजू श्रीवास्तव की सेहत में सुधार होता न देख योगी आदित्यनाथ ने कॉमेडियन दी देखरेख की जिम्मेदारी यूपी के रेजिडेंट कमिश्नर को सौंपी थी। कुछ हफ्ते पहले तक भी सबकुछ ठीक नजर आ रहा था। बेटी अंतरा और परिवार के अन्य लोगों ने भी बीच-बीच में अपडेट दे रहे थे कि राजू की हालत स्थिर है।

ब्लड प्रेशर कम होने पर दिया गया CPR, ली अंतिम सांस

राजू श्रीवास्तव के भतीजे कुशल श्रीवास्तव ने हमारे सहयोगी ईटाइम्स को बताया कि 20 सितंबर की रात तक भी सबकुछ ठीक था और उन्हें पूरा विश्वास था कि राजू ठीक हो जाएंगे। लेकिन अगली सुबह (21 सितंबर) दूसरे कार्डियक अरेस्ट से राजू का निधन हो गया। बताया जा रहा है कि राजू श्रीवास्तव की 21 सितंबर की सुबह अचानक ही तबीयत बिगड़ी थी। उनका ब्लड प्रेशर अचानक कम हो गया था। राजू को तुरंत ही सीपीआर दिया गया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, पहले तो राजू श्रीवास्तव ने रिस्पॉन्ड किया, लेकिन फिर वह रिकवर नहीं कर पाए और अंतिम सांस ली। राजू श्रीवास्तव की हालत में पिछले दो-तीन दिन से सुधार नजर आ रहा था। जल्द ही उन्हें वेंटिलेटर से हटाया जाना था। लेकिन यह मौका आने से पहले ही राजू श्रीवास्तव सबको धोखे में रखकर इस दुनिया से चले गए।

कानपुर में जन्मे राजू श्रीवास्तव, यह थी इच्छा

कानपुर में जन्मे राजू श्रीवास्तव का असली नाम सत्य प्रकाश श्रीवास्तव था। फिल्मों में किस्मत आजमाने के लिए राजू 1980 में मुंबई आ गए थे। यहां आने के बाद काफी स्ट्रगल किया और तब जाकर उन्हें फिल्मों में छोटे-मोटे रोल मिले।

राजू श्रीवास्तव ने ‘मैंने प्यार किया’ से लेकर ‘बाजीगर’ और ‘आमदनी अठन्नी खर्चा रुपैया’ जैसी कई फिल्में कीं। उन्होंने सलमान खान से लेकर शाहरुख खान, गोविंदा और रवीना टंडन जैसे स्टार्स संग काम किया। लेकिन राजू श्रीवास्तव को असली पहचान और स्टारडम कॉमेडी शो ‘द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज’ से मिला था। इस शो ने राजू श्रीवास्तव को घर-घर मशहूर कर दिया था।

कॉमेडी को नया आयाम देने वाले और ‘कॉमेडी किंग’ के नाम से मशहूर राजू श्रीवास्तव का बस एक सपना और था जो अधूरा रह गया। राजू श्रीवास्तव ओटीटी प्लेटफॉर्म पर काम करना चाहते थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक, कुछ प्रोजेक्ट्स को लेकर राजू की बात भी चल रही थी। लेकिन मौत ने सब खत्म कर दिया। अब गजोधर भैया बहुत याद आएंगे।

पढ़ें देश-विदेश की ख़बरें अब हिन्दी में (Hindi News)| Webvarta की ताजा खबरों के लिए हमें Google News पर फॉलो करें |

Similar Articles

Most Popular