जब जो बाइडेन ने की भारतीयों की तारीफ, बोले- स्‍वाति मोहन, कमला हैरिस अमेरिका में मचा रहे धूम

0
236
joe biden
Webvarta Desk: अब तक भारतीय मूल के 55 लोगों को अपने प्रशासन में जगह दे चुके अमेरिका के राष्‍ट्रपति जो बाइडेन (US President Joe Biden) ने कहा है कि इंडियन अमेरिकन लोग पूरे अमेरिका में धूम मचाए हुए हैं।

राष्‍ट्रपति बाइडेन (US President Joe Biden) का इशारा इतने बड़े पैमाने पर भारतीयों के अमेरिकी प्रशासन में शामिल होने की ओर था। अपने करीब 50 दिन के शासन काल में बाइडेन ने भारतीय मूल के कम से कम 55 लोगों को प्रमुखता से जगह दी है।

बाइडेन (US President Joe Biden) के भाषण लिखने वाले से लेकर नासा तक भारतीय धूम मचाए हुए हैं। अब सरकार के लगभग हर हिस्‍से में भारतीय मूल के लोग मौजूद हैं। बाइडेन ने कहा, ‘भारतीय मूल के लोग देश में छाए हुए हैं। आप (स्‍वाती मोहन), मेरी वाइस प्रेसिडेंट कमला हैर‍िस, मेरे भाषण लिखने वाले विनय रेड्डी सभी छाए हुए हैं।’ बाइडेन ने यह बयान नासा के वैज्ञानिकों के साथ बातचीत के दौरान दिया।

मंगल पर रोवर उतारने वाली नासा की टीम को बधाई दी

स्‍वाती मोहन भारतीय मूल की अमेरिकी वैज्ञानिक हैं और उन्‍होंने नासा के मंगल मिशन के दौरान इसके सफलतापूर्वक उतरने की घोषणा की थी। बाइडन ने मंगल अभियान के तहत ग्रह की सतह पर रोवर को सफलता पूर्वक उतारने के कार्य को अंजाम देने वाली नासा की टीम को बृहस्पतिवार को बधाई दी और कहा कि इसने देश के ‘आत्मविश्वास को ऐसे वक्त में बढ़ाने काम किया’ है जब कोरोना वायरस महामारी के कारण विज्ञान के क्षेत्र में अग्रणी देश की छवि को नुकसान पहुंचा।

नासा ने पिछले महीने छह पहियों वाले रोवर को सफलतापूर्वक मंगल की सतह पर उतारकर इतिहास रचा था। बाइडन ने अंतरिक्ष एजेंसी के जेट प्रणोदन प्रयोगशाला की टीम के नेतृत्व से वीडियो कांफ्रेंस के जरिए बातचीत की और ‘पर्सेवियरेंस रोवर’ के 18 फरवरी को मंगल की सतह पर उतरने की घटना पर खुशी जाहिर की। ‘पर्सेवियरेंस’ नासा द्वारा भेजा गया सबसे बड़ा आधुनिक रोवर है और 1970 के दशक के बाद से मंगल की सतह पर सफलतापूर्वक उतरने वाला यह नौवां अंतरिक्ष यान है।

‘मैं नासा की टीम से व्यक्तिगत तौर पर सीधी बात करना चाहता था’

ग्रह पर जीवन की संभावना तलाशने के अभियान के लिए इस यान ने करीब सात महीने में 30 करोड़ मील की दूरी तय की। बाइडन ने नासा की टीम को कहा, ‘यह मंगल की सतह पर पर्सेवियरेंस के उतरने से भी कहीं अधिक बड़ा क्षण है। यह अमेरिकियों की इच्छा शक्ति के बारे में है और आपने इसे लौटाने का काम किया है।’

पिछले महीने पर्सेवियरेंस के मंगल की सतह पर उतरने की घटना को बाइडन ने टेलीविजन पर देखा था और नासा के कार्यवाहक प्रशासक स्टीव जुर्स्की को पर्सेवियरेंस से जुड़ी टीम को उनकी ओर से धन्यवाद देने को कहा था। बाइडन ने कहा कि वह टीम से व्यक्तिगत तौर पर सीधी बात करना चाहते थे जो इस श्रेय की हकदार थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here