पीरियड्स में किस पोजीशन में सोना है सही

0
178
correct position in period for sleeping

मासिक धर्म या पीरियड्स महिलाओं की जिंदगी का एक अभिन्‍न हिस्‍सा है, जो हर महीने उन्हें कम से कम 6-7 दिनों तक परेशान करता है। इस दौरान महिलाओं को चिड़चिड़ापन, अनिद्रा, मीठा खाने का दिल करना, पेट में ऐंठन और दर्द जैसी की परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

इतना ही नहीं, इस दौरान हार्मोनल बदलाव होने के कारण कुछ महिलाओं को सोने में काफी दिक्कत होता, जिसके चलते उनकी नींद भी नहीं पूरी हो पाती। ऐसे में आज हम आपको पीरियड्स के दौरान सोने की सही पोजीशन के बारे में बताएंगे, जिससे ना सिर्फ आप नींद पूरी होगी बल्कि आप कमर व पीठ दर्द जैसी समस्याओं से भी बची रहेंगी।

फेटल पोजीशन में सोएं : इस दौरान महिलाओं को फेटल पोजीशन यानी बाईं तरफ (।eft Side) तरफ मुंह करके सोना चाहिए क्योंकि दाई तरफ मुंह करके सोने से आपकी पेट दर्द की समस्या बढ़ सकती है। इससे पेट की मांसपेशियों पर दबाव पड़ता है, जिससे पेट में ऐंठन की समस्या कम होती है। साथ ही इससे तनाव भी दूर होता है।

ना करें ज्यादा तकियों का इस्तेमाल : इन दिनों में सोने के लिए ज्यादा तकियों का इस्तेमाल ना करें। बेड पर लेटने के बाद पैरों को फोल्ड करके सोएं। एक तकिए को पैरों की बीच और दूसरे को कमर के पीछे रखें। इससे पेट व पीठ की मांसपेशियों को आराम मिलेगा और दर्द से राहत मिलेगी।

गर्म पानी से स्नान : सोने से करीब आधा घंटा पहले हल्के गुनगुने पानी से स्नान करें। इससे दिमाग को आराम मिलेगा और मांसपेशियां भी रिलैक्स होंगी, जिससे आपको नींद अच्छी आएगी। साथ ही इस बात का ख्याल रखे कि एसी का टेंपरेचर 20 डिग्री सेल्सियस तक हो।

हॉट बॉटल का यूज : पेट व पीठ दर्द से राहत पाने के लिए सोने से पहले हॉट बॉटल को पेट पर रख लें। इससे आपको आराम मिलेगा और नींद भी अच्छी आएगी।

हल्का भोजन : पीरियड्स के दौरान महिलाओं को स्पाइसी और मीठा खाने की क्रेविंग होती है लेकिन सोने से पहले ऐसी चीजों का सेवन ना करें। डिनर में हल्का-फुल्का भोजन खाएं। इससे पाचन क्रिया ठीक रहेगी और आपको पेट दर्द की समस्या भी नहीं होगी। चीनी और वसायुक्त फूड्स खाने से बचे क्योंकि इससे आपको नींद नहीं आएगी। अपनी डिनर डाइट में फल व सब्जियों को अधिक शामिल करें।

हल्की-फुल्की एक्सरसाइज : कुछ महिलाएं इन दिनों में एक्सरसाइज करना छोड़ देती हैं, जोकि गलत है। इस दौरान भी अपने वर्कआउट रिजीम को जारी रखें। आप चाहे तो घर ही हल्की एक्सरसाइज या योग कर सकती हैं। इससे आपको रिलैक्स भी मिलेगी और पेट दर्द भी कम होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here