गुजरात चुनाव में क्यों हुई कांग्रेस की शर्मनाक हार? तीन सदस्यीय समिति करेगी मंथन

गुजरात विधानसभा चुनाव 2022 में कांग्रेस को करारी हार का सामना करना पड़ा. मल्लिकार्जुन खरगे के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद कांग्रेस दो राज्यों में चुनाव लड़ी, जिसमें हिमाचल प्रदेश में शानदार प्रदर्शन किया, लेकिन गुजरात में पार्टी को शर्मनाक हार का सामना किया. अब इस हार पर कांग्रेस मंथन करेगी. इसके लिए पार्टी ने एक समिति गठित की है.

तीन समिति करेगी गुजरात चुनाव में हार की समीक्षा

कांग्रेस ने गुजरात विधानसभा चुनाव में निराशाजनक प्रदर्शन का आकलन करने और आगे सुधार के लिए उठाए जाने वाले कदमों के बारे में सुझाव देने के मकसद से बुधवार को तीन सदस्यीय तथ्यान्वेषी समिति का गठन किया.

समिति की अगुआई करेंगे नितिन राउत

कांग्रेस पार्टी की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने यह समिति गठित की जिसकी अध्यक्षता महाराष्ट्र सरकार के पूर्व मंत्री नितिन राउत करेंगे.

समिति में दो और नाम, दोनों बिहार से

गुजरात में हार की समीक्षा के लिए बनायी गयी समिति में दो अन्य सदस्य बिहार विधानसभा के सदस्य को शामिल किया गया है. शकील अहमद खान और सांसद सप्तगिरि उलका को इस समिति का सदस्य बनाया गया है.

दो सप्ताह में रिपोर्ट पेश करेगी समिति

गुजरात में कांग्रेस की शर्मनाक हार के पीछे के कारण कौन-कौन से हैं. इसकी समीक्षा करने के बाद तीन सदस्यीय समिति दो सप्ताह में अपनी रिपोर्ट पेश करेगी. समिति अपनी रिपोर्ट अध्यक्ष खरगे को सौपेंगी.

गुजरात में कांग्रेस का सबसे निराशाजनक प्रदर्शन, केवल 17 सीटों पर मिली जीत

पिछले साल के दिसंबर महीने में संपन्न गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने अब तक का सबसे निराशाजनक प्रदर्शन किया और उसे 182 सदस्यीय विधानसभा में सिर्फ 17 सीटें मिलीं. भाजपा ने 156 सीटें हासिल करके ऐतिहासिक जीत दर्ज की. इस चुनाव में अरविंद केजरीवाल की अगुआई वाली आम आदमी पार्टी तीसरे स्थान पर रही. आप को केवल 5 सीटें ही मिली. जबकि अन्य ने 4 सीटों पर कब्जा किया. अरविंद केजरीवाल की पार्टी ने सभी 182 सीटों पर उम्मीदवार उतारा था.

Leave a Comment