Kanjhawala Death Case: कंझावला मौत मामले में आरोपी आशुतोष को कोर्ट से झटका, जमानत याचिका खारिज

दिल्ली कंझावला कांड में आरोपी आशुतोष भारद्वाज को रोहिणी कोर्ट से तगड़ा झटका लगा है. रोहिणी कोर्ट ने आरोपी आशुतोष की जमानत याचिका खारिज कर दी है. इससे पहले खबर आयी थी कोर्ट इस मामले में फैसला सुरक्षित रख लिया था. मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट सान्या दलाल ने आरोपी पर लगे आरोपों को देखते हुए उसकी जमानत याचिका खारिज कर दी.

फोरेंसिक टीम की दुर्घटना में शामिल कार की जांच

राष्ट्रीय फोरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय, गांधीनगर के फोरेंसिक विशेषज्ञों की एक टीम ने दुर्घटना में शामिल कार की जांच की जिसमें कंझावला में एक 20 वर्षीय महिला की मौत हो गई थी.

कंझावला मामले में साक्ष्य जुटा रही फोरेंसिक टीम

बाहरी दिल्ली के कंझावला में 31 दिसंबर को हुई कार दुर्घटना में साक्ष्य और नमूने एकत्र कर गुजरात के फोरेंसिक विशेषज्ञ मामले की जांच कर करेंगे.

31 दिसंबर को स्कूटी सवार अंजलि को कार ने टक्कर मार दी थी और 12 किलोमीटर तक शव को घसीटा

गौरतलब है कि अंजलि सिंह (20) की स्कूटी को एक कार ने 31 दिसंबर और एक जनवरी की दरमियानी रात को टक्कर मार दी थी, जिसमें वह कार के नीचे फंस गईं और वाहन के साथ सड़क पर करीब 12 किलोमीटर तक घसीटे जाने के कारण उसकी मौत हो गई.

कंझावला मौत मामले में अब तक 7 लोगों की हुई गिरफ्तारी

पुलिस ने कंझावला मौत मामले में अब तक कुल सात लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने इस मामले में दीपक खन्ना (26), अमित खन्ना (25), कृष्ण (27), मिथुन (26) और मनोज मित्तल को पहले गिरफ्तार किया था. बाद में दो और लोगों- आशुतोष व अंकुश खन्ना – को कथित तौर पर साक्ष्य छिपाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया.

पीड़ित के परिजनों की हत्या का मामला दर्ज करने की मांग, प्रदर्शन किया

कड़ाके की ठंड के बीच कंझावला मामले की पीड़ित अंजलि सिंह के परिजनों ने सुलतानपुरी थाने के बाहर प्रदर्शन किया और आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की. सिंह के रिश्तेदारों ने इससे पहले भी थाने के बाहर प्रदर्शन किया था और आरोपियों के लिए मृत्युदंड की मांग की थी.

Leave a Comment