1 क्विंटल गांजे के साथ कुख्यात बदमाश रईस रेडियो साथी सहित गिरफ्तार

भोपाल, 21 अगस्त (आमिर आबिद खान)। भोपाल क्राइम ब्रांच पुलिस ने गांजा की बड़ी खेप के साथ कुख्यात दो बदमाश रईस रेडियो (रईस खान) और उसके एक साथी को गिरफ्तार किया है। करीब 15 लाख रुपए कीमत की एक क्विंटल गांजा लेकर भोपाल आए थे। पुष्पा फिल्म में जिस तरह से चंदन की लकड़ी की तस्करी की गई थी। उसी तर्ज दोनों आरोपी कार को मॉडिफाई कर गांजे की तस्करी कर रहे थे। कार की सीट के नीचे लोहे के बॉक्स बनवाए थे। इन्हीं बाक्स में गांजा रखकर दोनों आरोपी ओडिशा से भोपाल गांजे की तस्करी करते थे। क्राइम ब्रांच पुलिस के मुताबिक आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

डीसीपी क्राइम श्रुति सोमवंशी ने बताया कि शनिवार-रविवार की दरम्यानी रात मुखबिर ने भोपाल में गांजे की बड़ी खेप आने की सूचना दी थी। जिसके बाद शहर के अलग-अलग एंट्री प्वाइंट पर क्राइम ब्रांच की टीम तैनात की गई थी। बदमाश रईस रेडियो और उसका साथी अबरार खान गांजे की खेप के साथ जब सेंट्रल जेल रोड बायपास पहुंचा, तभी पुलिस की टीम ने आरोपियों की कार को रोका और आरोपियों की कार की तलाशी ली। जिसमें गांजे के 10-10 किलोग्राम के 10 पैकेट मिले। इसके बाद अबरार और रईस खान उर्फ रेडियो को गिरफ्तार कर लिया गया।

जब्त गांजे की कीमत 15 लाख रुपए

क्राइम ब्रांच पुलिस ने बताया कि जब्त किए गए गांजे की बाजार में करीब 15 लाख रुपए कीमत है। रईस रेडियो और उसके साथी अबरार ने गांजे की तस्करी करने के लिए अपनी निजी कार को मॉडिफाई कराया था। कार की सीट के नीचे लोहे के बाक्स बनवाए थे। इन्हीं बाक्स में गांजा रखकर आरोपी ओडिशा से भोपाल गांजे की तस्करी करते थे। पुलिस ने बताया कि रईस खान उर्फ रेडियो नशीले पदार्थों की तस्करी, मारपीट, अड़ीबाजी जैसे मामलों में पहले भी गिरफ्तार हो चुका है। वह कुछ हफ्ते पहले ही जेल से रिहा हुआ था। पुलिस रईस रेडियो से गांजे की तस्करी के लोकल नेटवर्क के बारे में पूछताछ कर रही है। ताकि राजधानी में नशीले पदार्थों की सप्लाई करने वालों को पकड़ा जा सके।

पुलिस की निगरानी के लिए रखता था वायरलेस

बदमाश रईस खान का नाम रईस रेडियो भोपाल पुलिस ने रखा है। दरअसल, आदतन अपराधी रईस खान, पुलिस महकमे में सांठ-गांठ कर पुलिस का वायरलेस सेट साथ में रखता था। वह ऐसा पुलिस के मूवमेंट की निगरानी करने के लिए किया करता था। इसके चलते तत्कालीन पुलिस अफसरों ने बदमाश रईस खान का नाम रईस रेडियो रख दिया। तभी से रईस खान का नाम रईस रेडियो हो गया।

Leave a Comment