PM Modi ने अपने जन्मदिन पर राष्ट्र को कहा ‘आयुष्मान भव:’ हर गांव-कस्बे में स्वास्थ्य अभियान का हुआ आगाज

New Delhi: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) के जन्मदिन के अवसर पर देशव्यापी स्वास्थ्य अभियान ‘आयुष्मान भव’ शुरू किया है. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने बुधवार, 13 सितंबर को इसे लॉन्च किया था. सरकार ने पूरे भारत के हर गांव और कस्बे तक पूर्ण स्वास्थ्य देखभाल योजना कवरेज की गारंटी देने के लिए इस व्यापक राष्ट्रव्यापी प्रयास की शुरुआत की है. यह अभियान स्वस्थ गांव और स्वस्थ ग्राम पंचायत बनाने और अंततः देश में पूर्ण स्वास्थ्य कवरेज हासिल करने के उद्देश्य से शुरू किया गया है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया द्वारा 11 सितंबर को आधिकारिक तौर पर शुरू की गई यह पहल 2 अक्टूबर तक जारी रहेगी. इस पहल का नेतृत्व ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में सरकारी विभागों के सहयोग से ग्राम पंचायतों द्वारा किया जाता है. ‘आयुष्मान भव’ कार्यक्रम का उद्देश्य आयुष्मान कार्ड वितरित करना, एबीएचए आईडी बनाना और स्वास्थ्य देखभाल कार्यक्रमों और गैर-संचारी रोगों, तपेदिक और सिकल सेल एनीमिया जैसी बीमारियों के बारे में जागरूकता को बढ़ावा देना है.

स्वास्थ्य योजनाओं की पूर्ण कवरेज प्राप्त करने का उद्देश्‍य 
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि इस पहल में ‘आयुष्मान- आपके द्वार 3.0’, ‘आयुष्मान सभा’ ​​और ‘आयुष्मान मेला’ (चिकित्सा शिविर) सहित विभिन्न उपाय शामिल हैं, जिनका उद्देश्य स्वास्थ्य योजनाओं की पूर्ण कवरेज प्राप्त करना है. आयुष्मान भव कैंपेन में कई कार्यक्रमों काे शामिल किया है जिसमें ‘आयुष्मान- आपके द्वार 3.0’, ‘आयुष्मान सभा’, स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों पर ‘आयुष्मान मेला’ और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मेडिकल कॉलेजों द्वारा चिकित्सा शिविर शामिल हैं.

अभियान के अंतर्गत शीर्ष गतिविधियां
प्रत्येक व्यक्ति को आवश्यक स्वास्थ्य सेवाएं सुनिश्चित करने के लिए 17 सितंबर से 2 अक्टूबर तक ‘सेवा पखवाड़ा’ आयोजित किया जाएगा. ‘आयुष्मान – आपके द्वार 3.0’ का उद्देश्य पात्र लाभार्थी के लिए आयुष्मान भारत योजना के तहत ई-कार्ड का उपयोग और स्वास्थ्य बीमा सेवाओं का लाभ सुनिश्चित करना है. इस गतिविधि के तीन उद्देश्य हैं – जागरूकता में सुधार, ई-कार्ड की पहुंच बढ़ाना और देखभाल की निरंतरता स्थापित करना.

प्रत्येक कल्याण केंद्र पर स्वास्थ्य मेले का आयोजन
इसी तरह, आयुष्मान मेला इस योजना के तहत ‘स्वास्थ्य मेले’ आयोजित किए जाएंगे. यह स्वास्थ्य संबंधी व्यापक समस्याओं के समाधान के लिए वन-स्टॉप मंच है. ये मेले स्वास्थ्य और कल्याण, निवारक उपायों, शीघ्र पता लगाने और उपचार के बारे में जागरूकता पैदा करेंगे. स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, आयुष्मान भारत द्वारा संचालित प्रत्येक कल्याण केंद्र पर स्वास्थ्य मेले का आयोजन होगा. दूसरी है आयुष्मान सभा में यह समुदाय के बीच आयुष्मान कार्ड, एबीएचए आईडी निर्माण के साथ-साथ गैर-संचारी रोगों (एनसीडी), संचारी सेवाओं, तपेदिक और सिकल सेल रोग पर जागरूकता पैदा करने के लिए आयोजित की जाने वाली एक समुदाय-स्तरीय गतिविधि है.

Leave a Comment