Omicron XBB.1.5 Sub-Variant: ओमिक्रोन का XBB.1.5 सब-वैरिएंट क्या है? भारत में भी पांच मामले सामने आये

भारतीय सार्स-सीओवी-2 जीनोमिक्स संघ (इन्साकॉग) के डेटा के अनुसार भारत में कोरोना वायरस के एक्सबीबी.1.5 वैरियंट के पांच संक्रमित मरीज मिले हैं. कोरोना वायरस का यही स्वरूप अमेरिका में संक्रमण के मामले बढ़ने के लिए जिम्मेदार है. पांच मामलों में से तीन मामले गुजरात में और एक-एक कर्नाटक तथा राजस्थान में सामने आये हैं.

अमेरिका में कोरोना संक्रमण के 44 प्रतिशत मामले एक्सबीबी और एक्सबीबी.1.5 के

एक्सबीबी.1.5 स्वरूप ओमिक्रोन के एक्सबीबी स्वरूप से ही संबंधित है. अमेरिका में संक्रमण के 44 प्रतिशत मामले एक्सबीबी और एक्सबीबी.1.5 के हैं.

पूरे भारत में फैल रहा है ओमिक्रोन वैरिएंट एक्सबीबी

इंडियन सार्स-सीओवी-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (इन्साकॉग) ने अपने बुलेटिन में कहा है कि कोरोनो वायरस का ओमिक्रोन वैरिएंट और इससे बने अन्य वैरिएंट का भारत में खतरा बना हुआ है. जिसमें एक्सबीबी प्रमुख है. बुलेटिन के मुताबिक बीए.2.75 और बीए.2.10 स्वरूप भी फैल रहे थे लेकिन कुछ हद तक.

एक्सबीबी पूरे भारत में सबसे प्रचलित वैरिएंट

विशेष रूप से उत्तर-पूर्व भारत में बीए.2.75 वायरस का प्रचलित स्वरूप रहा है. हालांकि, इस अवधि में गंभीर बीमारी या अस्पताल में भर्ती होने के मामलों में कोई वृद्धि नहीं देखी गई है. इन्साकॉग ने कहा कि ओमिक्रोन और इसके वैरिएंट भारत में प्रमुखता से बने हुए हैं. एक्सबीबी पूरे भारत में सबसे प्रचलित वैरिएंट (63.2 प्रतिशत) है.

वैक्सीन ले चुके लोगों को भी कोरोना के सब वैरियंट से खतरा

डॉ जयदेवन ने बताया कि इस वैरिएंट में उन लोगों को संक्रमित करने की क्षमता है, जिन्हें पहले कोई संक्रमण था या टीकाकरण भी हुआ था. XBB.1.5 ने अपने RBD (रिसेप्टर बाइंडिंग डोमेन) में स्थित F486P नामक एक दुर्लभ प्रकार का म्यूटेशन बनाकर इसे हासिल किया.

भारत में कोविड-19 के 134 नये मामले

भारत में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 134 नये मामले आये जबकि उपचाराधीन मरीजों की संख्या कम होकर 2,582 हो गयी है. कोविड-19 के कुल मामलों की संख्या 4.46 करोड़ (4,46,78,956) दर्ज की गयी. संक्रमण से जान गंवाने वाले लोगों की संख्या 5,30,707 है.

Leave a Comment