बॉल टैम्परिंग पर फिर छिड़ी चर्चा के चलते दोबारा कप्तान नहीं बन पाएंगे Steve Smith : मार्क टेलर

0
102
mark-taylor

मेलबर्न, 24 मई (वेबवार्ता)। ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट को झकझोर देने वाला बॉल टैम्परिंग एक बार फिर सुर्ख़ियों में आ गया है। इस मामले में सजा झेल चुके कैमरन बेनक्राफ्ट (Cameron Bancroft) ने द्वारा हाल ही में दिए एक इंटरव्यू के बाद ये मामला फिर गरमा गया है।

बता दें कि टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन (Tim Paine) ने हाल ही में यह संकेत दिए थे कि वह आगामी एशेज सीरीज के बाद रिटायर हो सकते हैं। इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम की कप्तानी का दावेदार एक बार फिर स्मिथ (Steve Smith) को माना जा रहा था। लेकिन ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान मार्क टेलर का मानना है कि 2018 में हुआ गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण कभी पूरी तरह नहीं दबेगा और हाल में इसे लेकर दोबारा सुर्खियां बटोरने से स्टीव स्मिथ की दोबारा टेस्ट कप्तानी हासिल करने की संभावनाओं को नुकसान पहुंचेगा।

मार्क टेलर ने स्पोर्ट्स संडे से बात करते हुए कहा, ‘स्टीव स्मिथ (Steve Smith) को इसके चलते दोबारा कप्तान नहीं चुना जा सकेगा। मुझे उम्मीद है कि वैसे इस खेल से जुड़े ज्यादातर लोग यही मानते हैं कि आगे बढ़ना चाहिए, लेकिन इस मामले में ऐसा नहीं होगा। स्मिथ को इससे कोई मदद नहीं मिलेगी। अब उनका कप्तान बनना मुश्किल होगा।’

साल 2018 में केप टाउन टेस्ट के दौरान बेनक्राफ्ट ने बॉल पर सैंडपेपर रगड़कर अपनी टीम के गेंदबाजों को मदद दिलाने के लिए छेड़छाड़ की थी। ऑस्ट्रेलिया ने इस मामले में तब सख्ती दिखाते हुए कप्तान स्टीव स्मिथ (Steve Smith), डेविड वॉर्नर (David Warner) और कैमरन बेनक्राफ्ट को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था। बाद में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने स्मिथ और वॉर्नर पर एक-एक साल जबकि बेनक्राफ्ट पर 9 महीने का बैन लगाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here