रोहित शर्मा की जगह मयंक अग्रवाल से ओपनिंग करानी चाहिए : सुनील गावस्कर

0
137
sunil gavaskar

New Delhi: हाल ही में आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप 2021 के फाइनल (WTC Final) में न्यूजीलैंड के खिलाफ खिताब गंवाने के बाद टीम इंडिया की नजरें अब इंग्लैंड के खिलाफ होने वाली पांच मैचों की टेस्ट सीरीज पर हैं। इस दौरे को लेकर भारतीय टीम के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर  (Sunil Gavaskar) ने सुझाव देते हुए कहा है कि इंग्लैंड के खिलाफ पांच मुकाबलों की टेस्ट सीरीज में रोहित शर्मा की जगह मयंक अग्रवाल से पारी की शुरुआत करानी चाहिए। इसके अलावा गावस्कर ने कहा कि चेतेश्वर पुजारा को टीम में बरकरार रखा जाना चाहिए।

उन्होंने कहा, “मयंक अग्रवाल (Mayank Aggarwal) ने भारत के लिए वास्तव में अच्छा काम किया है और दो बार पारी की शुरुआत करते हुए दोहरा शतक जड़ा है। यह अच्छी बात है कि बीसीसीआई (BCCI) और जय शाह ने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले कुछ प्रैक्टिस मैच कराने की पहल की है, ताकि आप तय कर सकें कि गिल और अग्रवाल में से कौन भारत के लिए ओपनिंग कर सकता है।”

गावस्कर  (Sunil Gavaskar) ने आगे कहा, “उनसे एक साथ पारी की शुरुआत कराई जाए, क्योंकि रोहित शर्मा निश्चित रूप से अच्छे खिलाड़ी हैं और उन्हें कुछ मैचों के लिए आराम दिया जा सकता है। इससे आपको अंदाजा हो जाएगा कि अंग्रेजी परिस्थितियों के लिए किसके पास बेहतर तकनीक है और फिर उसी के आधार पर निर्णय ले सकते हैं कि मयंक या गिल में से किसे खिलाना चाहिए।”

इसके आलावा पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने कहा है कि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में भारतीय टीम में धैर्य की कमी दिखी। उनके मुताबिक भारत वनडे और टी20 इतना ज्यादा खेलता है कि टेस्ट क्रिकेट के लिए जितने धैर्य की जरूरत होती है वो उनके पास नहीं रह गया है।

द टेलीग्राफ में लिखे अपने कॉलम में सुनील गावस्कर  (Sunil Gavaskar) ने भारतीय टीम (Team India) के बैटिंग परफॉर्मेंस को लेकर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा “खेल के आखिरी दिन कंडीशंस काफी अच्छे थे। धूप निकली हुई थी और पिच अच्छी थी। लेकिन एक टेस्ट मैच के लिए जितने धैर्य की जरूरत होती है भारतीय खिलाड़ियों में उसकी कमी दिखी। उन्होंने बहुत खराब शॉट खेले और इसी वजह से टीम कम स्कोर पर आउट हो गई।”

सुनील गावस्कर  (Sunil Gavaskar) ने केन विलियमसन का उदाहरण दिया

सुनील गावस्कर  (Sunil Gavaskar) ने न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन की तारीफ की और कहा ” जिस धैर्य और शॉट सेलेक्शन की जरूरत बल्लेबाजी में होती है वो न्यूजीलैंड के कप्तान की पारी में दिखी। दोनों ही पारियों में उन्होंने इसका नमूना पेश किया। वो अपनी टीम को जीत की दहलीज तक लेकर गए। उन्होंने काफी बेहतरीन बल्लेबाजी की और इस बात को भूल गए कि ये पिच गेंदबाजों की मददगार है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here