होम आइसोलेशन में भर्ती मरीजों की जा रही है निरंतर मॉनिटरिंग : जिलाधिकारी

0
91
covid home isolation

-कोविड-19 की दूसरी लहर को दृष्टिगत रखते हुए जनपद में कोविड कमांड सेंटर सक्रिय

कुशीनगर, 17 मई (ममता तिवारी)। उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जनपद में कोरोना संक्रमण के मरीजों की संख्या के मद्देनजर जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग एवं अन्य संबंधित विभागीय अधिकारियों के द्वारा जनपद के प्रभारी अधिकारी पनधारी यादव, जिलाधिकारी एस राजलिंगम के निर्देश पर सभी प्रकार की गतिविधियों में निरंतर दृढ़ता के साथ कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है ताकि जनपद वासियों को कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाया जा सके।

जिलाधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि कोविड कमांड सेंटर के माध्यम से जरूरतमंद व्यक्तियों को अस्पताल में ऑक्सीजन बेड उपलब्ध कराए जा रहे हैं तथा जनपद में वेंटिलेटर बेड, ऑक्सीजन बेड व सामान्य बेड कि अस्पतालों में कोई कमी नहीं है। उन्होंने बताया कि जनपद में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर को दृष्टिगत रखते हुए 24×7 कोविड कमांड सेंटर निरंतर सक्रिय रहकर कार्य कर रहा है, जिसमें प्रतिदिन कॉल ऑपरेटिंग ऑफिसर के द्वारा अटेंड करते हुए प्राप्त समस्याओं का समयबद्धता के साथ निस्तारण कराया जा रहा है।

कोविड कमांड सेंटर मैं तैनात चिकित्सकों की टीम के द्वारा टैलीकाउंसलिंग एवं मेडिकल से संबंधित सभी प्रकार की समस्याओं का अनुश्रवण करते हुए मरीजों को परामर्श दे रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि कोविड कमांड सेंटर के माध्यम से जरूरतमंदों को बेड, ऑक्सीजन, टीकाकरण संबंधी सभी जानकारी भी उपलब्ध कराई जा रही हैं और होम आइसोलेशन में भर्ती मरीजों की चिकित्सकों की टीम के द्वारा निरंतर मॉनिटरिंग की जा रही है तथा स्वास्थ्य विभाग की टीम के द्वारा दवाइयां होम आइसोलेशन में भर्ती मरीजों के घरों तक पहुंचाई जा रही है एवं उनकी हर प्रकार की समस्या का निराकरण कोविड कमांड सेंटर के माध्यम से कराया जा रहा है।

जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि आगे भी इसी प्रकार से कोविड कमांड सेंटर चौबीस घंटे सक्रिय रहकर कार्य करता रहेगा ताकि जनपद वासियों को कोरोनावायरस के संक्रमण से सुरक्षित बनाया जा सके। लिंगम ने बताया कि मरीजों के साथ तीमारदारों के रहने की व्यवस्था, तीमारदारों के लिए पास की व्यवस्था, कोरोना संक्रमण के चेन तोड़ने हेतु प्रत्येक दिन समीक्षा बैठक, ग्रामों सहित अस्पतालों में लगातार दौरा कर नियंत्रण हेतु प्रभावी कार्यवाही, साफ सफाई/सेनेटाइजेसन, ऑक्सीजन की व्यवस्था, वेंटिलेटर, डिस्प्ले के माध्यम से बेड की सही जानकारी उपलब्ध कराना, ऑक्सीजन प्लांट, कोविड हेल्थ डेस्क के माध्यम से आमजन को जागरूक किये जाने, आईसीसी, तथा शिकायत/कण्ट्रोल रूम के माध्यम से शिकायतों का निस्तारण कराया जाना शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here