कुशीनगर में कोरोना महामारी को लेकर जिला प्रशासन ने की बैठक

0
36
corona epidemic in Kushinagar
कुशीनगर में कोरोना महामारी को लेकर जिला प्रशासन ने की बैठक

कुशीनगर, 15 मई (ममता तिवारी)। उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जनपद में कोरोनावायरस की चेन को तोड़ने के लिए प्रतिबद्ध जिलाधिकारी एस. राजलिंगम की अध्यक्षता में रात्रिकालीन बैठक कलेक्टरेट सभागार में आयोजित की गई। बैठक कल देर रात 10 बजे तक चली। यह बैठक जनपद के समस्त उपजिलाधिकारी, डॉक्टर्स, स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को संबोधित था। कोरोना संक्रमण के गांव तक पहुंच जाने को लेकर की जाने वाली तैयारी एवं रणनीति का दिशानिर्देश इस बैठक में दिया गया।

इस संदर्भ में जिलाधिकारी ने सभी उप जिलाधिकारी, डॉक्टरों एवं स्वास्थ्य कर्मियों को निर्देश देते हुए कहा कि कांटेक्ट ट्रेसिंग को बढ़ाया जाए। कांटेक्ट ट्रेसिंग में असहयोग करने वालों को जागरूक करें एवं असहयोग करने पर आवश्यकता पड़ने पर कार्यवाही भी करें। सभी अधिकारियों से उन्होंने अपील करते हुए कहा कि नेतृत्व कीजिए, गाइड कीजिए, सपोर्ट कीजिए कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए कार्य कीजिये। एक बार फिर इस बैठक में आज उन्होंने कहा कि जो कर्मचारी कार्य नहीं कर रहे हैं, ड्यूटी से अनुपस्थित रह रहे हैं, तो उनके खिलाफ एपिडेमिक एक्ट के तहत कार्यवाही की जाए। नियमित मीटिंग करने के भी निर्देश दिए।

उन्होंने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि जहां रैपिड रिस्पांस टीम ज्यादा है एवं मामले कम है वहां टीम के कुछ सदस्यों को उन क्षेत्रों में भी भेजा जाए, जहां मामले ज्यादा है। उक्त बैठक में जिलाधिकारी महोदय ने कहा कि उन्हें हर कार्य का आंकड़ा नियमित रूप से तथा समय पर दिया जाए। ताकि उसकी उपयुक्त समीक्षा हो सके। निगरानी समिति के बढाए जाने पर भी उन्होंने जोर दिया। दवाओं को आशा कार्यकत्रियों को उपलब्ध करवाए जाने का निर्देश उन्होंने दिया। उन्होंने सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को कोविड केंद्र बनाए जाने की बात की। जहाँ सभी आधारभूत सुविधाएं प्रदान की जाएगी। जैसे ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, डिजिटल x-ray मशीन, जनरेटर, ऑक्सीजन सिलेंडर, बेड इत्यादि। इस क्रम में सेवरही व सपहा में ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाने की सूचना दी गयी।

उन्होंने बताया कि हमें सी एच सी के मूलभूत सुविधाओं को ठीक करना होगा। उन्होंने कहा कि अब लोगों को यह समझ में आ गया है कि डॉक्टर्स हॉस्पिटल कितने जरूरी हैं। उक्त बैठक में यह कहा गया कि हर रैपिड रेस्पॉन्स टीम अपना उचित प्रदर्शन दे। प्रत्येक आर आर टीम के साथ डॉक्टर्स (आयुष/होम्योपैथी) को जोर जाए। कंटेन्मेंट जोन में नियमित तौर पर सेनेटायजेसन, सफाई व फॉगिंग की जाए, ज्यादा से ज्यादा सैम्पलिंग एवं टेस्टिंग की जाए।

जिलाधिकारी  ने कहा कि विकास भवन में स्थापित कोविड कमांड कंट्रोल 24 घंटे सक्रिय है कोई शिकायत या समस्या दर्ज करवाई जा सकती है। वो खुद शिकायत पुस्तिका को रोज चेक करते हैं। इस बैठक में जिलाधिकारी के साथ प्रभारी अपर जिलाधिकारी रामकेश यादव, मुख्य चिकित्सा अधिकारी नरेंद्र गुप्ता सहित तमाम उपजिलाधिकारी, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here