छोटे बच्चों की सुरक्षा कवच के‍ लिए अभिभावकों का होगा वैक्सीनेशन : योगी आदित्‍यनाथ

0
152
yogi-adityanath

-सीएम योगी ने गोंडा व आजमगढ़ में की कोविड-19 के रोकथाम के उपायों की समीक्षा, अधिकारियों को दी हिदायत

-आशीष श्रीवास्तव-

आजमगढ़, 24 मई (वेबवार्ता)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को गोंडा जनपद के बाद आजमगढ़ का दौरा किया। इस दौरान वे जहां मेडिकल कालेज व बिजौरा गांव का निरीक्षण किये वहीं अधिकारियों के साथ बैठक कर कोविड-19 संक्रमण के प्रभावी नियंत्रण के लिए किये गए उपयों और कोराना की तीसरी लहर को रोकने की तैयारियों की समीक्षा की। मुख्यमंत्री कोरोना संक्रमितों के उपचार व टेस्टिंग को गंभीरता से लेने की हिदायत दी। इस मौके पर गोरखपुर जोन के एडीजी अतुल कुमार, देवी पाटन रेंज के पुलिस महानिरीक्षक राकेश सिंह, आयुक्त एसवीएस रंगाराव मौजूद रहे।

इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 14 वर्ष से छोटी उम्र के बच्चों को सुरक्षा कवच देने के लिए उनके अभिभावकों का वैक्सीनेशन कराया जाएगा। इस पर सरकार काम कर रही है। पूरा प्रयास है कि जल्द से जल्द टीकाकरण के अभियान में इसे शामिल कर लिया जाएगा। यह बातें मुख्यमंत्री ने सोमवार को आजमगढ़ में राजकीय बालिका इंटर कालेज रैदोपुर स्थित कोविड कमांड सेंटर, विकास खंड पल्हनी के कंटेनमेंट जोन बिजौरा में पॉजिटिव मरीज से बात करने और फिर राजकीय मेडिकल कालेज चक्रपानपुर के निरीक्षण के बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए कही।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार जनता के जीवन व जीविका के प्रति पूरी तरह प्रतिबद्ध है, जिसके लिए हर स्तर पर काम किया जा रहा है। सीएम ने कहाकि 18 प्लस से 44 वर्ष तक के लोगों का वैक्सीनेशन अभी प्रदेश के 23 जिलों में ही चल रहा है। पहली जून से प्रदेश के सभी 75 जिलों के बूथों पर वैक्सीनेशन शुरू हो जाएगा, जिसकी तैयारी लगभग पूरी हो चुकी है।

सीएम ने यह भी कहा कि हमारी प्राथमिकता है कि न्यायिक अधिकारियों व मीडिया के लिए प्रत्येक जिले में अलग से बूथ बने, जिससे वे और अपने स्वजन का टीकाकरण कराकर सुरक्षित हो जाएं। सरकार जल्द ही गांवों को कामन सर्विस सेंटर(सीएससी) से वैक्सीनेशन के लिए जोड़ा जाएगा। जहां निश्शुल्क पंजीकरण होगा और गांव के लोगों को टीकाकरण में आसानी होगी।

उन्होंने अंत में कहा कि कोरोना महामारी से जंग के लिए सभी का जागरूक होना जरूरी है। इसके लिए मास्क लगाना और दो गज की दूरी का पालन करना होगा। हाईरिस्क के लोग घरों से बिल्कुल न निकलें। बच्चों व गर्भवती महिलाओं को भी घर से न निकलने दें। बहुत आवश्यक होने पर ही घर से निकलें लेकिन मास्क लगाना और दो गज की दूरी का पालन अवश्य करें।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपराह्न करीब दो बजे आजमगढ़ पुलिस लाइन पहुंचे। यहां सीएम की सुरक्षा में बड़ी चूक दिखी। सीएम का हेलीकाप्टर जिस समय लैंड कर रहा था उसी समय हेलीपैड पर गाय पहुंच गयी। गाय से स्वयं भाग जाने से बड़ी दुर्घटना टल गयी। सीएम योगी ने पुलिस लाइन परिसर में ही कार्यकर्ताओं से मुलाकात की इसके बाद जीजीआईसी में बने कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण किया फिर सकिर्ट हाउस के लिए रवाना हो गए।

सर्किट हाउस से वे सीधे बिजौरा गांव पहुंचे। यहां उन्होंने निरीक्षण कर व्यवस्थाएं देखी। इस दौरान कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए सीएम ने कुछ लोगों ने बातचीत भी की। इसके बाद सीएम राजकीय मेडिकल कालेज एवं सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल चक्रपानपुर पहुंचे। यहां नान कोविड वार्ड के निरीक्षण के बाद उन्होंने अधिकारियों के साथ बैठक कर कोडिव-19 संक्रमण के उपचार, संक्रमण से बचाव व तीसरी लहर रोकने के लिए किये गए इंतजाम की मंडलीय समीक्षा की। अधिकारियों को उपचार व टेस्टिंग पर विशेष फोेकश का निर्देश दिया।

इस तरह काम करता है कमांड सेंटर : कोविड कमांड कंट्रोल रूम के माध्यम से जिलाधिकारी कोविड हॉस्पिटल की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। कोविड हास्पिटल में लगाए गए सीसी कैमरे को कंट्रोल रूम व डीएम के मोबाइल से जोड़ा गया है। जिला सूचना विज्ञान अधिकारी गिरीश प्रजापति और ई-डिस्ट्रिक्ट मैनेजर अमित गुप्ता को तकनीकी जिम्मेदारी दी गई है। कोविड हॉस्पिटल के हर फ्लोर, नर्सिंग स्टेशन, कोविड वार्ड सहित अन्य प्रमुख जगहों को ऑनलाइन टीवी और मोबाइल पर देखा जा रहा है। कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों के साथ कैसा व्यवहार हो रहा है, उनकी उचित देखभाल हो रही है कि नहीं, खाना वक्त पर मिल रहा है या नहीं, दवाएं और ऑक्सीजन देने की स्थिति क्या है. ये सारी जानकारी डीएम को मोबाइल पर दिख रहा है। इन सारी व्यवस्थाओं पर कंट्रोल रूम से भी नजर रखी जा रही है।होम आइसोलेशन मरीजों से हर दिन फोन पर संवाद करके उनका कुशल क्षेम जाना जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here