दादा-दादी की स्मृति में CM शिवराज के बेटे कार्तिकेय ने आयोजित किया क्रिकेट का महाकुंभ

0
85
Webvarta Desk: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) के बड़े सुपुत्र कार्तिकेय सिंह चौहान (Kartikey Singh Chouhan) ने अपने दादा-दादी की स्मृति में जिले के नसरुल्लागंज तहसील मुख्यालय पर आयोजित प्रेम सुंदर मेमोरियल क्रिकेट प्रतियोगिता (Prem Sundar League) का शुभारंभ आज राज्य सभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने किया। यह प्रतियोगिता 14 से 21 फरवरी तक आयोजित होगी और 16 चयनित टीमों के बीच होगा मुकाबला होगा।

श्री सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) आज दोपहर 12 बजे लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री प्रभुराम चौधरी और ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसौदिया (Mahendra Singh Sisodia) के साथ नसरुल्लागंज हेलीपेड पहुंचे और उत्कृष्ट विद्यालय प्रांगण में आयोजित प्रेम सुंदर मेमोरियल क्रिकेट प्रतियोगिता का शुभारंभ किया। उन्होंने प्रदेश सरकार के विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया और लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि तहसील स्तर पर इतना बड़ा आयोजन सराहनीय है। उन्होंने क्रिकेट ग्राउंड पर जाकर मैच भी खेला।

इस मौके पर कार्तिकेय (Kartikey Singh Chouhan) ने नसरूलागंज के खेल मैदान पर अायोजित पत्रकार वार्ता में बताया कि नगर के उत्कृष्ट विद्यालय में 14 से 21 फरवरी तक विभागीय प्रदर्शनी एवं सह प्रशिक्षण का आयोजन किया जा रहा है। 20 फरवरी से 21 फरवरी तक जिले के 24 विभागों की जानकारी एवं सफल लक्ष्यों की प्रदर्शनी लगाई जाएगी, जिसमें सेज यूनिवर्सिटी, स्व-सहायता समूह, स्ट्रीट वेंडर, लोकसेवा, जैसे 24 विभाग होंगे।

उन्होंने बताया कि यहाँ 20, 21 फरवरी को रोजगार मेला आयोजित किया गया है, जिसमें जिले की औद्योगिक कंपनी एवं मंडीदीप क्षेत्र की कंपनियों के द्वारा लगभग एक हजार युवाओं को रोजगार दिया जाना लक्षित है। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम का उद्देश्य आत्मनिर्भर सीहोर के लक्ष्य को प्राप्त करना एवं पर्यटन को बढ़ावा देना है।

डे-नाइट होंगे सभी मैच, 180 ग्राम पंचायतों की कुल 16 टीमें लेंगी हिस्सा

यह क्रिकेट टूर्नामेंट नसरुल्लागंज के उत्कृष्ट विद्यालय ग्राउंड में 14 से 21 फरवरी तक होगा। इसमें बुधनी विधानसभा क्षेत्र की 180 ग्राम पंचायतों की बेस्ट 16 टीमें हिस्सा लेंगी। सभी मैच दुधिया रोशनी में खेले जाएंगे। प्रतियोगिता में भाग लेने वाली टीमों के सभी सदस्यों को क्रिकेट यूनिफार्म दी जाएगी। यू-टयूब पर मैचों का प्रसारण होगा।

मैदान में राज्य शासन की प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी। कार्तिकेय के PSL टूर्नामेंट के लिए बुधनी के सभी ग्राम पंचायतों में निमंत्रण कार्ड भेजा गया है। ऐसे में इनकार नहीं किया जा सकता कि कार्तिकेय चौहान 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी कर रहे हैं।

दादा-दादी की स्मृति में क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन करा रहे कार्तिकेय

यह क्रिकेट टूर्नामेंट कार्तिकेय अपने दादा-दादी (प्रेम सिंह चौहान, सुंदर बाई चौहान) की स्मृति में करा रहे हैं। प्रतियोगिता में विजेता टीम को 1।51 लाख, उप विजेता को 1 लाख रुपए, तृतीय स्थान प्राप्त करने वाली टीम को 51 हजार रुपए मिलेंगे। मैन ऑफ द टूर्नामेंट रहने वाले खिलाड़ी को 21000, प्रत्येक मैच के मैन ऑफ द मैच को 10,000 रुपए का इनाम मिलेगा।

युवाओं के बीच पैंठ.. मिशन 2023 की अटकलें

कार्तिकेय द्वारा आयोजित प्रेम सुंदर मेमोरियल क्रिकेट प्रतियोगिता (Prem Sundar League) को राजनीतिक खेमा उनके पॉलिटिकल करियर की सीढ़ी मान रहा है। कयास लगाए जा रहे हैं कि मुख्यमंत्री शिवराज परंपरागत बुधनी क्षेत्र की राजनीतिक विरासत अपने बेटे कार्तिकेय को सौंपना चाहते हैं। उपचुनाव में राजनीति का ककहरा सीख चुके कार्तिकेय अब पूरी मजबूती के साथ पॉलिटिक्स में डिग्री कोर्स पूरा करने की तैयारी में हैं। इसके लिए उन्हें क्रिकेट की पिच को राजनीति में एंट्री का हथियार बनाया है। कार्तिकेय IPL की तर्ज पर बुधनी में प्रेम सुंदर लीग (Prem Sundar League) टूर्नामेंट का आयोजन करा रहे हैं।

MP के 19 मुख्यमंत्रियों में 8 के पुत्र अब तक राजनीति में आ चुके हैं

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश के 19 मुख्यमंत्रियों में 8 के पुत्र राजनीति में आ चुके हैं। इस लिस्ट में अब कार्तिकेय चौहान के शामिल होने की अटकलें तेज हो गई हैं। एमपी के पहले सीएम रविशंकर शुक्ल के दोनों बेटे विद्याचरण शुक्ल और श्यामाचरण शुक्ल राजनीति में आए। राज्य के छठवें मुख्यमंत्री गोविंद नारायण सिंह के बेटे हर्ष सिंह और ध्रुव नारायण सिंह राजनीति में आए। एमपी के 10वें सीएम कैलाश जोशी के बेटे दीपक जोशी राजनीति में हैं।

राज्य 11वें सीएम वीरेंद्र कुमार सखलेचा के बेटे ओमप्रकाश सखलेचा भी राजनीति में हैं। तीन बार सीएम रहे अर्जुन सिंह के बेटे अजय सिंह 6 बार विधायक रहे। मोतीलाल वोरा के बेटे अरुण वोरा विधायक रहे। दिग्विजय सिंह के बेटे जयवर्धन सिंह कमलनाथ सरकार में बने मंत्री। पूर्व सीएम कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ छिंदवाड़ा के सांसद हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here