दिल्ली में अब 3 मई तक लॉकडाउन, केजरीवाल बोले- कई अस्पतालों में ऑक्सीजन संकट

0
157
Arvind-kejriwal

-Oxygen मैनेजमेंट के लिए दिल्ली सरकार ने बनाया पोर्ट्ल, जानिए कैसे करेगा काम

नई दिल्ली, 25 अप्रैल (वेबवार्ता)। दिल्ली में कोरोना (corona virus) के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली सरकार ने ऑक्सीजन मैनेजमेंट (Oxygen Managment) के लिए एक पोर्ट्ल बनाया है। इस पोर्टल पर अस्पताल से लेकर उत्पादक तक, सभी हर 2-2 घंटे में अपनी स्थिति बताएंगे। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (arvind kejriwal) ने इसका ऐलान करते हुए बताया कि ऑक्सीजन के प्रबंधन के लिए हमने एक पोर्टल बनाया है। उत्पादक से लेकर अस्पताल तक सब को हर दो घंटे में अपनी ऑक्सीजन की स्थिति बतानी होगी।

केजरीवाल (arvind kejriwal) ने कहा कि केंद्र सरकार से काफी सहयोग मिल रहा है। केंद्र और दिल्ली सरकार मिलकर काम कर रही हैं। दिल्ली में 700 टन ऑक्सीजन की जरूरत है। हमें केंद्र सरकार से 480 टन ऑक्सीजन अलॉट हुआ है और कल केंद्र सरकार ने 10 टन ऑक्सीजन और अलॉट किया है। अब दिल्ली को 490 टन ऑक्सीजन आवंटित हुआ है। लेकिन ये पूरा आवंटन भी अभी तक दिल्ली नहीं पहुंचा है। केजरीवाल ने कहा कि कल 330-335 टन ऑक्सीजन दिल्ली पहुंची।

दिल्ली के मुख्यमंत्री (arvind kejriwal) ने कहा कि लाॅकडाउन के दौरान हमने देखा कि पाॅजिटिविटी रेट लगभग 36-37 प्रतिशत तक पहुंच गया। हमने दिल्ली में इतनी संक्रमण दर आज तक नहीं देखी। पिछले एक-दो दिन से संक्रमण दर थोड़ी कम हुई है और आज 30 प्रतिशत के नीचे आई है।

दिल्ली में अब 3 मई तक लॉकडाउन

दिल्‍ली में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच देश की राजधानी में एक हफ्ते के लिए लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला किया गया है। सीएम अ‍रविंद केजरीवाल (arvind kejriwal) ने रविवार को एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में इसका ऐलान किया। उन्‍होंने कहा कि दिल्‍ली में अगले सोमवार 3 मई तक तक लॉकडाउन रहेगा। अगले सोमवार यानी तीन मई को सुबह पांच तक दिल्‍ली में यह लॉकडाउन बढ़ाया गया है।

सीएम केजरीवाल (arvind kejriwal) ने कहा कि अभी भी कोरोना का कहर जारी है। जनता का मत भी यही है कि लॉकडाउन और बढ़ाया जाए इसलिए लॉकडाउन 1 हफ्ते के लिए बढ़ाया जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि 36-37% पॉजिटिविटी रेट है जो पहले नही था। अब दिल्ली का ऑक्सीजन कोटा 480 से बढ़कर 490 मैट्रिक टन हो गया है हालांकि जरूरत 700 मेट्रिक टन की है और 330- 335 ही पहुंच रही है।

केजरीवाल (arvind kejriwal) ने माना कि कहीं जगह हम फेल भी हुए हैं लेकिन कहीं जगह हम ऑक्सीजन पहुंचाने में कामयाब भी हुए हैं। ऑक्सीजन का मैनेजमेंट भी शुरू कर रहे हैं। एक पोर्टल बनाया गया है जिसमें हर दो 2 घंटे में मैन्युफैक्चर से लेकर अस्पताल तक सबको अपने यहां की पोजीशन बतानी पड़ेगी। अस्पतालों को बताना पड़ेगा कि पिछले 2 घंटे में कितनी इस्तेमाल हुई और सप्लायर को बताना पड़ेगा पिछले 2 घंटे में कितनी सप्लाई की। इससे सरकार को पता चलेगा कि कहां कमी आने वाली है और उसको ठीक किया जा सके।

सीएम (arvind kejriwal) ने इस दौरान कहा कि कोरोना से जुड़े मु्द्दों पर केंद्र सरकार से पूरा सहयोग मिल रहा है। कठिन परिस्थितियों के बीच सब मिलकर काम कर रहे हैं।सीएम ने उम्‍मीद जताई कि आने वाले कुछ दिनों में अफरातफरी का आलम ठीक हो जाना चाहिए। केंद्र सरकार के अलावा हम कोशिश कर रहे हैं जहां से भी हम को मदद मिल सके। उन्‍होंने बताया, ‘देश के सभी मुख्यमंत्रियों को कल मैंने चिट्ठी लिखी है अगर आपके यहां ऑक्सीजन की कोई संभावना हो तो हमें बताइएकुछ राज्यों के साथ बातचीत शुरू हुई है जब कोई सकारात्मक नतीजे आएंगे तो आपको बताऊंगा।’

दिल्ली में कोरोना से बीते दिन 357 लोगों की हुई मौत

इस बीच, दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण से एक दिन में सर्वाधिक 357 लोगों की मौत हो गई और 24,000 से ज्यादा नए केस सामने आए हैं। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी। दिल्ली में लोगों के संक्रमित पाए जाने की दर 32।27 प्रतिशत है।

पिछले 24 घंटे के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली में एक्टिव केस की संख्या एक लाख के करीब पहुंच रही है। राष्ट्रीय राजधानी में अभी 93,080 एक्टिव कोरोना के मरीज हैं। बुलेटिन में कहा गया है कि बीते 24 घंटे में कोरोना से 22,695 मरीज ठीक हुए हैं। दिल्ली में बीते दिन 74,702 कोरोना सैंपलों की जांच की गई और 35,455 लोगों को कोविड-19 वैक्सीन लगाई गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here