गैर जरूरी दुकानदारों को अगले हफ्ते में राहत दी जाएगी : डिप्टी कमिश्नर

0
64
Deputy Commissioner Ludhiana

लुधियाना 26 मई (राजकुमार शर्मा)। अगर दुकानें सुबह 5:00 बजे से लेकर शाम 5:00 बजे तक खुलने का हुकम ना जारी किया गया तो दुकानों की चाबियां कैप्टन अमरिंदर सिंह को सौंप दी जाएगी और इसकी सारी जिम्मेदारी कैप्टन सरकार की होगी।

पंजाब प्रदेश व्यापार मंडल का एक शिष्टमंडल लुधियाना के डिप्टी कमिश्नर वीरेंद्र शर्मा को डी सी ऑफिस और लुधियाना के पूर्व कैबिनेट मंत्री और विधायक राकेश पांडे के साथ मिला। इस दौरान पंजाब प्रदेश व्यापार मंडल ने उनसे मांग की है कि जैसे कि पंजाब के 23 जिलों में दुकानें खुलने का समय सुबह 5:00 बजे से लेकर शाम 5:00 बजे तक है। पर सिर्फ लुधियाना में दुकानें खोलने का समय सुबह 5:00 बजे से लेकर दोपहर 1:00 बजे तक है। इसमें दुकानें खोलना नामुमकिन है।

भारी ट्रैफिक और भारी भीड़ के कारण दुकानदार और ग्राहक दुकान पर पहुंच ही नहीं पाते और दुकानदार बेरोजगारी का शिकार हो रहे हैं पंजाब प्रदेश व्यापार मंडल ने मांग की है कि तुरंत सुबह 5:00 बजे से लेकर शाम 5:00 बजे तक दुकानें खोलने का हुक्म तुरंत जारी किया जाए। लुधियाना पंजाब का मानचैस्टर और ट्रेड का शहर है। यहां पर 1000000 इंडस्ट्री में लेवर काम करती है। इनको काम करने के लिए पंजाब सरकार ने छूट दी है। लेकिन जो 5000 दुकाने हैं। उनमें सिर्फ एक या दो लोग ही काम करते हैं। उनको सरकार ने बंदी में डालकर रखा हुआ है। यहां दुकानें 10:00 बजे खुलती है। इसमें लोग 12:00 बजे तक ट्रैफिक और भारी भीड़ के कारण दुकानें खोल भी नहीं पाते। तभी दुकानों पर ग्राहक पहुंच भी नहीं पाता।

बेरोजगारी की हालत में दुकानदार एक तरफ कोरोना की मार के कारण मर रहा है तो दूसरी तरफ दुकानदार बेरोजगारी, भुखमरी और सरकार की गलत नीतियों के कारण मर रहा है। इस दौरान पंजाब प्रदेश व्यापार मंडल की समस्याओं को सुनकर डिप्टी कमिश्नर वीरेंद्र शर्मा और विधायक राकेश पांडे ने भरोसा दिलाया कि लुधियाना के दुकानदारों को अगले हफ्ते से और राहत मिलेगी और हम लोग राहत की उम्मीद करते हैं कि हम लोगों को दुकानों को सुबह 5:00 बजे से लेकर शाम 5:00 बजे तक दुकानें खोलने का समय दिया जाएगा।

अगर कैप्टन सरकार और जिला प्रशासन दुकानें खोलने के लिए समय नहीं देता तो जैसे हमने पहले भी आंदोलन किया है और अब भी कैप्टन सरकार के खिलाफ आंदोलन करेंगे। एक तरफ तो हम लोग कोरोना की महामारी के कारण मर रहे हैं और दूसरी तरफ सरकार की गलत नीतियों को हम हरगिस बर्दाश्त नहीं करेंगे। हम अपने दुकानों की चाबियां कैप्टन अमरिंदर सिंह को सौंप देंगे।

पंजाब सरकार की ओर से ना तो हम लोगों को कोई राहत मिली है और ना ही पंजाब सरकार की ओर से टैक्सों में छूट दी गई है। और ना ही पंजाब सरकार ने हमारी समस्याओं को सुना। यह कोरोना दुकानों को बंद कर कर नहीं बल्कि बाजारों में भारी भीड़ के कारण कोरोना फैलेगा। अगर सरकार ने हमारी बात ना मानी तो हमारे पास फिर आंदोलन का रास्ता है। दुकानदार परेशान होकर फिर सड़कों पर उतरेंगे इसकी सारी जिम्मेदारी कैप्टन अमरेंद्र सरकार और जिला प्रशासन की होगी।

डिप्टी कमिश्नर द्वारा पंजाब प्रदेश व्यापार मंडल की समस्याओं को सुनने के बाद बताया कि लुधियाना में कोरोना के केस कम हो रहे हैं और पहले लुधियाना एक नंबर पर था और अब लुधियाना नंबर दो पर और जालंधर एक नंबर पर है और कोरोना के काफी केस कम हुए हैं। लुधियाना के लोगों और व्यापारियों के सहयोग के कारण हम सब मिलकर इस कोरोना की जंग को जीतेंगे। जो राहते व्यापारियों को चाहिए जब-जब कोरोना के केस कम होते जाएंगे तब तब वह व्यापारियों को और राहते दी जाएंगी। इस अवसर पर पंजाब व्यापार मंडल के प्रधान सुनील मेहरा, राजीव अरोड़ा, अश्विनी महाजन, हरकेश मित्तल, योगेश गुप्ता आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here