ममता बनर्जी को चोट पर TMC नेता बोले- गुजरात में ऐसा होता तो एक और गोधरा हो जाता

0
77
Webvarta Desk: पश्चिम बंगाल (West Bengal) के नंदीग्राम में नामांकन के बाद कथित हमले में चोटिल मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee Injured) की हालत अब सामान्य बताई जा रही है। वहीं, प्रदेश में इस हमले को लेकर सियासी संग्राम तेज हो गया है।

TMC के नेता मदन मित्रा (Madan Mitra) ने घटना को लेकर विवादित बयान देकर माहौल और गरमा दिया है। मित्रा ने गुरुवार को आरोप लगाया कि यह ह’त्या की साजिश थी, जिसे प्रशिक्षित लोगों ने अंजाम दिया है। उन्होंने कहा कि अगर यही घटना गुजरात में होती तो एक और गोधरा कांड (Godhara) हो जाता।

इससे पहले ममता बनर्जी (Mamata Banerjee Injured) ने भी अपने ऊपर हुए हमलों को साजिश बताया था। उन्होंने कहा कि चार-पांच लोग थे, जिन्होंने उन्हें चोट पहुंचाने की कोशिश की थी। विपक्षी पार्टी बीजेपी ने इसे सहानुभूति बटोरने के लिए ममता बनर्जी का नाटक करार दिया है। वहीं TMC के नेताओं ने इस घटना को लेकर प्रदेश में जगह-जगह प्रदर्शन किया। इसी बीच टीएमसी के नेता मदन मित्रा ने और ज्यादा आक्रामक होते हुए घटना के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर को जिम्मेदार ठहरा दिया।

यह प्रशिक्षित लोगों का काम: मित्रा

मित्रा (Madan Mitra) ने गुरुवार को कहा कि यह अच्छी तरह से प्रशिक्षित लोगों का काम है, जो ‘निक्कर’ में ट्रेनिंग लेते हैं। उन्होंने कहा कि अगर यह घटना किसी और राज्य में होती, मान लें कि गुजरात में होती तो अब तक एक और गोधरा बन जाता। यह हत्या की साजिश थी। उम्मीदवार होने के नाते मैं आरोप लगा रहा हूं लेकिन पुलिस मेरी बात नहीं सुन रही है।

मित्रा (Madan Mitra) ने आगे कहा कि प्रदेश में गुंडागर्दी चल रही है और जनता को पता है कि ये सब कौन कर रहा है? उन्होंने प्रदेश के नए डीजीपी को बदलने की भी मांग की। गौरतलब है कि बीते दिनों चुनाव आयोग ने प्रदेश के डीजीपी वीरेंद्र का तबादला कर उनकी जगह पर नए डीजीपी पी नीरजनयन को तैनात किया था।

घटना से पहले का वीडियो आया सामने

नंदीग्राम में ममता बनर्जी पर हुए हमले के ठीक पहले का वीडियो सामने आया है। वीडियो में दिख रहा है कि नामांकन भरने के बाद ममता अपनी गाड़ी के दरवाजे पर खड़ी होकर अभिवादन स्वीकार रही हैं। उनके साथ सुरक्षाकर्मी भी दिख रहे हैं। ममता की गाड़ी की स्पीड भी धीमी मालूम पड़ रही है। हालांकि इसके बाद क्या हुआ और ममता को चोट कैसे आई, यह अभी भी सवाल बना हुआ है।

उधर मामले को लेकर टीएमसी प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग के पास शिकायत दर्ज कराने पहुंचा है। प्रतिनिधिमंडल में राज्यसभा सांसद डेरेक ओ ब्रायन, मंत्री चंद्रिमा भट्टाचार्य और पार्थ चटर्जी शामिल हैं। तीनों ममता बनर्जी पर हुए कथित हमले के खिलाफ शिकायत दर्ज कराएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here