West Bengal: बंगाल में ISF गठबंधन पर कांग्रेस में रार, BJP ने मजे- ठगबंधन है ये

0
143
Webvarta Desk: पश्चिम बंगाल में चुनाव (West Bengal Election 2021) से पहले आईएसएफ से गठबंधन को लेकर कांग्रेस (Congress-ISF Alliance) के भीतर सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। पहले कांग्रेस के भीतर ही इसको लेकर घमासान मचा हुआ था वहीं इस मुद्दे पर बीजेपी (BJP Jibe on Congress) ने भी कांग्रेस को घेरा है।

BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा (Sambit Patra) ने मंगलवार कहा कि कांग्रेस (Congress-ISF Alliance) ने जितने भी गठबंधन किए हैं वो किसी अच्छे परफॉर्मेंस, अच्छे रिफॉर्म्स या अच्छी गवर्नेंस के लिए नहीं किए हैं। यह गठबंधन केवल इसलिए किए कि किसी प्रकार गांधी परिवार अपनी राजनीतिक प्रासंगिकता बनाए रखे।

गठबंधन नहीं ये ठगबंधन है

संबित पात्रा (Sambit Patra) ने कहा कि आज कांग्रेस अपनी प्रासंगिकताको बनाएं रखने के लिए गठबंधन पर निर्भर है। ठीक ऐसा ही एक गठबंधन राहुल गांधी जी और उनकी कांग्रेस पार्टी बंगाल में कर रही है। जो कांग्रेस अपने को सेक्युलर बताती है, वही कांग्रेस बंगाल में ISF के साथ गठबंधन करती है। कांग्रेस का यह गठबंधन नहीं बल्कि उनका ये ठगबंधन है।

बंगाल चुनाव से पहले कांग्रेस में बवाल

कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता आनंद शर्मा ने पश्चिम बंगाल चुनावों इंडियन सेक्‍युलर फ्रंट (ISF) से गठबंधन पर नाराजगी जाहिर की है। उनका कहना है कि आईएसएफ और ऐसे अन्‍य दलों के साथ कांग्रेस का गठबंधन पार्टी की मूल विचारधारा, गांधीवाद और नेहरूवादी धर्मनिरपेक्षता के खिलाफ है, जो कांग्रेस पार्टी की आत्‍मा है।

इन मुद्दों पर कांग्रेस कार्यसमिति में चर्चा होनी चाहिए थी। शर्मा ने यह भी कहा कि इसको लेकर पश्चिम बंगाल प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष अधीर रंजन चौधरी का समर्थन शर्मनाक है। वहीं, अधीर रंजन चौधरी ने इस पर जवाब देते हुए कहा है कि यह गठबंधन पार्टी नेतृत्‍व की मंजूरी से हुआ है। बंगाल चुनाव से पहले अब इस मुद्दे पर घमासान मचा हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here