Parliament Budget Session: बजट सत्र का दूसरा चरण सोमवार से, MP’s के लिए बनाया गया टीकाकरण केंद्र

0
159
Webvarta Desk: संसद के बजट सत्र (Parliament Budget Session 2021) का दूसरा चरण कल यानि सोमवार से सभी कोरोना महामारी उपायों के साथ शुरू होगा। संसद का बजट सत्र का पहला चरण 29 जनवरी को राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द के संबोधन के साथ शुरू हुआ। बजट सत्र का पहला हिस्सा 27 फरवरी को संपन्न हुआ।

बजट सत्र (Parliament Budget Session 2021) के पहले हिस्से में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक फरवरी को संसद में केंद्रीय बजट को पेश किया था। बजट सत्र का दूसरा चरण 8 मार्च से शुरू होकर 8 अप्रैल को समाप्त होगा।

इस बार सांसदों के लिए टीकाकरण केंद्र

संसद परिसर के अंदर सांसदों के लिए एक टीकाकरण केंद्र (Covid-19 Vaccination Centre for MP’s) स्थापित किया गया है। लोकसभा के एक बुलेटिन में कहा गया है कि संसद सदस्यों के कल्याण के लिए मंगलवार 9 मार्च से संसद भवन मेडिकल सेंटर में एक COVID-19 टीकाकरण केंद्र स्थापित किया गया है।

60 वर्ष से अधिक आयु के संसद सदस्य राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के वर्तमान चरण में टीका लगाने के लिए पात्र हैं। 45 वर्ष से अधिक आयु वाले व्यक्ति, जिन्हें कोरोना का खतरा है वे कोरोना वैक्सीन लगवाने के पात्र हैं। संसदीय आंकड़ों के अनुसार लोकसभा के 36 प्रतिशत सांसद और राज्यसभा के 62 प्रतिशत सांसद 60 वर्ष से अधिक आयु के हैं।

कब से कब तक चलेगी संसद की कार्यवाही ?

बजट सत्र के पहले चरण की तरह इस बार भी कोरोना उपायों के चलते संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही अलग-अलग समय पर होगी। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने सूचित किया कि राज्यसभा सुबह 9 से दोपहर 2 बजे तक चलेगी जबकि लोकसभा शाम 4 से रात 10 बजे के बीच कार्य करेगी। उन्होंने बताया कि बजट सत्र का दूसरा भाग 8 अप्रैल को संपन्न होगा।

काफी अच्छा रहा बजट सत्र का पहला हिस्सा

लोकसभा सचिवालय ने बताया कि कि संसद में दो हिस्सों में चले बजट सत्र के पहले चरण के दौरान लोकसभा में 99.5 प्रतिशत उत्पादकता देखने को मिली। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने बजट सत्र 2021 के पहले चरण के दौरान बताया था कि लोकसभा 50 घंटे के निर्धारित समय के मुकाबले 49 घंटे और 17 मिनट बैठी।

संसद के बजट बजट सत्र के पहले हिस्से में राष्ट्रपति के अभिभाषण के मोशन ऑफ थैंक्स पर चर्चा 16 घंटे और 39 मिनट तक चली और इसमें 130 सदस्यों ने चर्चा में भाग लिया। इसी दौरान केंद्रीय बजट 2021-2022 पर सामान्य चर्चा के लिए 10 घंटे आवंटित किए गए थे, सदन ने 14 घंटे और 40 घंटे तक बहस की। मिनट। केंद्रीय बजट 2021-2022 पर 117 सदस्यों ने चर्चा में भाग लिया। शून्य काल की चर्चा में 173 सदस्यों ने भाग लिया। शून्य काल के दौरान सदस्यों द्वारा तत्काल सार्वजनिक महत्व के कई मामले उठाए गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here