CBSE Exams Result 2021: शिक्षा मंत्री ने बताया किन छात्रों को फिर से मिलेगा परीक्षा देने का मौका

0
51
CBSE Exam Result 2021

CBSE Exams Result 2021: कोरोना महामारी (Coronavirus) की वजह से इस साल 2021 में सभी परीक्षाएं (Exam Cancel) निरस्त कर दी गई। ऐसे में केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक (Dr. Ramesh Pokhriyal Nishank) ने आज यानी शुक्रवार 25 जून को सीबीएसई बोर्ड के विद्यार्थियों को विश्वास दिलाते हुए कहा कि किसी भी छात्र की योग्यता के साथ बिल्कुल अन्याय नहीं होगा।

शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल (Dr. Ramesh Pokhriyal Nishank) ने कहा कि सीबीएसई (CBSE) की मूल्यांकन पद्धति से सभी छात्रों को उनकी योग्यता के अनुरूप परिणाम मिलेगा। जो छात्र सीबीएसई मूल्यांकन पद्धति से आए परिणाम से असंतुष्ट होंगे, उनके पास हालात ठीक होने पर परीक्षा देने का ऑप्शन रहेगा। यह वैकल्पिक परीक्षा अगस्त में हो सकती है।

दोबारा परीक्षा देने का मौका

परीक्षाओं के लेकर असंतुष्ट छात्रों को सोशल मीडिया (social media) पर संदेश जारी करते हुए उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री (Pm Modi) ने छात्रों के स्वास्थ्य व हित को ध्यान में रखकर परीक्षा रद्द करने का फैसला किया, उनका मैं आभारी हूं। मैं सुप्रीम कोर्ट का भी आभारी हूं कि उसने अपना निर्णय सीबीएसई (CBSE) के प्रस्ताव के अनुरूप दिया है।’

बता दें, सीबीएसई (CBSE) 12वीं रिजल्ट के फॉर्मूले से काफी छात्र और अभिभावक नाराज हैं। इस बारे में कुछ छात्रों का कहना है कि 10वीं कक्षा के अंकों को 12वीं का परिणाम का आधार नहीं बनाया जाना चाहिए। 10वीं के अंकों का असर 12वीं के प्रदर्शन पर नहीं पड़ता। कुछ छात्रों ने यह भी कहा है कि 11वीं में नए विषय होने के चलते उन्हें समझने में काफी समय लगा था। 11वीं में वह गंभीर नहीं थे। इसलिए 11वीं के अँक 12वीं में जोड़ना गलत है।

जानकारी देते हुए बता दें कि 1 जून को सीबीएसई  (CBSE) 12वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी गई थीं। इस बारे में 18 जून को सुप्रीम कोर्ट ने सरकार के बोर्ड रिजल्ट फॉर्मूले को स्वीकार कर लिया था। ऐसे में फॉर्मूले के अनुसार, सीबीएसई 12वीं कक्षा का रिजल्ट 10वीं, 11वीं और 12वीं क्लास में प्रदर्शन के आधार पर जारी किया जाएगा।

इसके साथ ही 10वीं और 11वीं के परीक्षा अंक को 30-30 प्रतिशत वेटेज और 12वीं कक्षा में परफॉर्मेंस को 40 प्रतिशत वेटेज दिया जाएगा। इसके चलते 31 जुलाई तक सीबीएसई 12वीं के परिणाम (Results) घोषित कर दिए जाएंगे। जो बच्चे परिणाम से संतुष्ट नहीं होंगे, उन्हें हालात सामान्य होने पर दोबारा परीक्षा देने का मौका दिया जाएगा।

बता दें, कोर्ट ने केंद्र सरकार द्वारा पेश 12वीं रिजल्ट फॉर्मूले को पूरी तरह से स्वीकार कर लिया है। छात्रों के कक्षा 10वीं के 5 में से बेस्ट 3 पेपरों के मार्क्स लिए जाएंगे। जबकि 11वीं कक्षा के सभी थ्योरी पेपरों के नंबर लिए जाएंगे। वहीं कक्षा 12वीं में की बात करें तो स्टूडेंट्स के यूनिट, टर्म व प्रैक्टिकल एग्जाम के नंबर लिए जाएंगे।

ध्यान दें,

बोर्ड परीक्षा 12वीं कक्षा – यूनिट टेस्ट, मिड टर्म और प्री-बोर्ड एग्जाम की परफॉर्मेंस के आधार पर परीक्षा के अंक मिलेंगे। इसका वेटेज 40 प्रतिशत होगा।

11वीं कक्षा – फाइनल एग्जाम में सभी विषयों के थ्योरी पेपर की परफॉर्मेंस के आधार पर परीक्षा में अंक मिलेंगे। इसका वेटेज 30 प्रतिशत होगा।

बोर्ड परीक्षा 10वीं कक्षा – प्रमुख 5 विषयों में से तीन विषयों के थ्योरी पेपर के परफॉर्मेंस के आधार पर परीक्षा में अंक मिलेंगे। जिसमें से पांच में से तीन विषय वे होंगे जिनमें स्टूडेंट का प्रदर्शन सबसे अच्छा रहा होगा। इसका वेटेज भी 30 प्रतिशत होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here