भाजपा के विरोध के बाद निगम ने सीवरेज-पानी के बिलों में की बढ़ौतरी का निर्णय लिया वापिस

0
99
sewerage-water bills

लुधियाना, 28 जून (राजकुमार शर्मा)। नगर निगम लुधियाना द्वारा 125 गज के नीचे के घरों तथा प्लाटों पर जबरन दोबारा लगाए गए सीवरेज-पानी के बिलों का भारतीय जनता पार्टी द्वारा जनता के हित्त में उतर कर विरोध किए जाने पर नगर निगम लुधियाना द्वारा अपने इस जन-विरोधी निर्णय को फौरन वापिस ले लिए गया है।

प्रदेश भाजपा महासचिव जीवन गुप्ता ने बीते दिनीं नगर निगम द्वारा जबरन जनता पर थोपे गए इन बिलों के विरोध में जनता के हित्त में विरोध की आवाज़ बुलंद करते हुए जनता के साथ मिलकर सड़कों पर उतरने की कैप्टन सरकार तथा निगम प्रशासन को चेतावनी दी थी। जिस पर निगम प्रशासन ने अपनी इस भूल को सुधारते हुए अपना निर्णय वापिस ले लिया है।

जीवन गुप्ता ने कहाकि कांग्रेस सरकार तथा उनका प्रशासन कोरोना पीड़ित जनता के लोगों की जेबों पर डाका डालने के लिए हर नुक्ता अजमा रहा है, लेकिन भारतीय जनता पार्टी कभी ऐसा नहीं होने देगी। उन्होंने कहाकि भाजपा ने हमेशा लोगों के हितों को लेकर आवाज़ उठाई है और उठती रहेगी।

गुप्ता ने कहा कि निगम के इस फैसले से मध्यम वर्गीय परिवारों का आर्थिक बजट बिगड़ जाता, क्यूंकि पहले से ही प्रदेश की जनता का आर्थिक बजट कोरोना महामारी के कारण बिगड़ा हुआ है। उन्हें दो वक्त की रोजी-रोटी चलाने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है। उन्होंने कहाकि शहर में ज्यादातर घर 50 से लेकर 125 गज में दो मंजिला बने हुए हैं। निगम के इस फैसले से शहर के लगभग 60 हजार से अधिक लोग इसके दायरे में आ जाते। इससे पहले इन सभी को माफी में रखा गया था।

जीवन गुप्ता ने कहा कि 50 गज वाले घर के मालिक को हर साल 100 रूपये के प्रति महिना के हिसाब से 1200 रुपये प्रति साल नगर निगम को चुकाने पड़ते, जिससे उनको बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता। 125 गज से 250 गज तक बने घरों को 175 रुपये प्रति माह, 250 गज से 500 गज तक बने घर मालिकों को 225 रुपये प्रति माह बिल देना पड़ता। वहीं 500 गज से ऊपर बने घर में वाटर मीटर लगाना अनिवार्य कर दिया है। उन्हें पहले 20 किलो लीटर पानी प्रयोग करने पर 2 रुपये प्रति लीटर चुकाने होंगे। 21 किलोलीटर से 30 किलोलीटर पानी प्रयोग करने पर 40 रुपये के साथ 5 रुपये प्रति किलोलीटर पैसा देना होगा। उन्होंने कहाकि नया टैरिफ एक अप्रैल 2021 से लागू कर दिय गया है।

जीवन गुप्ता ने कहाकि पंजाब के बाकि जिलों में अभी भी 125 गज तक के घरों पर सीवरेज-पानी के बिल माफ़ हैं, लेकिन लुधियाना नगर निगम अपनी नाकामी छुपाने के लिए लोगों की जेबों पर डाका डाल रही है। क्यूंकि इनके अपने अधिकारी व कर्मचारी शहर में कलेक्शन करने में नाकाम साबित हुए हैं। यह सब कैप्टन सरकार तथा उनके प्रशासन की सोची समझी साजिश के तहत हो रहा है। उन्होंने कहाकि जनता सब देख रही है और इसका जवाब आने वाले चुनाव में देने का मन बना चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here