Farmers Protest: राकेश टिकैत के सवाल- किसान आंदोलन पर केंद्र सरकार की ‘खामोशी’ से क्या इशारा?

0
77
Webvarta Desk: भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने आरोप लगाया है कि पिछले कुछ दिनों से केंद्र सरकार (Centre Govt) की खामोशी इशारा कर रही है कि सरकार किसानों के आंदोलन (Farmers Protest) के खिलाफ कुछ रूपरेखा तैयार कर रही है।

सरकार और किसान यूनियनों के बीच बातचीत का दौर थम जाने पर उन्होंने कहा कि फिर से बात करने का प्रस्ताव सरकार को ही लाना होगा।

बीकेयू के प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने उत्तराखंड के उधमसिंहनगर जाते समय रविवार रात बिजनौर के अफजलगढ़ में पत्रकारों से कहा, ’15-20 दिनों से केंद्र सरकार की खामोशी से संकेत मिल रहा है कि कुछ होने वाला है। सरकार आंदोलन के खिलाफ कुछ कदम उठाने की रूपरेखा बना रही है।’

’24 मार्च को महापंचायत’

टिकैत (Rakesh Tikait) ने कहा, ‘समाधान निकलने तक किसान वापस नहीं जाएंगे। किसान भी तैयार है, वह खेती भी देखेगा और आंदोलन भी करेगा। सरकार को जब समय हो वार्ता कर लें।’ उन्होंने कहा कि 24 मार्च तक देश में कई जगह महापंचायत की जाएगी।

‘सरकार क्यों नहीं उठा रही कदम’

गणतंत्र दिवस पर किसानों के प्रदर्शन के दौरान लालकिला परिसर में हुए बवाल के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने आरोप लगाया कि ये सारा बखेड़ा सरकार ने खड़ा किया।

तीन कृषि कानूनों को लेकर किसानों द्वारा जगह-जगह अपनी खड़ी फसल नष्ट कर देने संबंधी सवाल पर टिकैत ने कहा, ‘किसान यूनियन तो किसानों को बता रही है कि अभी ऐसा समय नहीं आया है लेकिन सरकार किसान को ऐसा कदम उठाने से रोकने के लिए कोई अपील क्यों नहीं कर रही है।’

यूपी में डीएम दफ्तर पर धरना देंगे किसान

राकेश टिकैत ने उत्तर प्रदेश में जिला स्तर पर किसान आंदोलन को बढ़ाने के संकेत देते हुए कहा कि अब गेंहू की तैयार फसल आने वाली है। अगर किसान का गेंहू एमएसपी पर नहीं खरीदा जाता है तो सरकार जिम्मेदार होगी। इसके लिए किसान जिलाधिकारी कार्यालय के सामने धरना देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here