कोरोना काल में भी जनता की समस्याओं का समाधान कर रहे योगी के मंत्री अनिल शर्मा

0
118
minister Anil Sharma is resolving the problems of the public during Corona

बुलंदशहर, 04 जून (सचिन कुमार गौतम)। कोरोना महासंकट के दौर में जहां सूबे के कई नेता अपने कार्यालय और घर से बाहर जाने से कतरा रहे हैं, तो वहीं प्रदेश के वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन राज्यमंत्री अनिल शर्मा इस कठिन परिस्थितियों में भी अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभा रहे हैं। ‘नर सेवा नारायण सेवा’ जैसी पंक्ति को सिद्ध करने वाले राज्यमंत्री अनिल शर्मा जनता के बीच बहुत ही लोकप्रिय हैं।

अनिल शर्मा ने कुछ दिनों पहले फेसबुक पर लाइव कहा कि कोरोना काल में सभी जनसेवा करें। अनिल शर्मा ने कहा कि कोरोना को भारत सरकार ने जिस प्रकार से हैंडल किया है, ऐसी व्यवस्था नहीं हो सकती थी। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि अगर देश और प्रदेश में अन्य किसी राजनीतिक दल की सरकार होती तो हालात और बदतर होते। उन्होंने कहा कि अगर किसी कोरोना रोगी को ऑक्सीजन बेड, इंजेक्शन आदि की आवश्यकता हो तो वह उनके व्हाट्सएप नंबर या फेसबुक आदि पर सीधा संपर्क करें।

उन्होंने कहा कि रोगी की हर संभव मदद की जाएगी। राज्यमंत्री ने कोरोना रोगी को सात्विक भोजन करने के साथ-साथ सुबह उठकर हनुमान चालीसा और महामृत्युंजय मंत्र का जप करने की भी सलाह दी। कोरोना वैक्सीनेशन कराने को लेकर लोगों में चल रही भ्रांतियों को दूर करते हुए राज्य मंत्री ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति वैक्सीनेशन कराए। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि शिकारपुर और पहासू सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था कराने की दिशा में कार्य कराया जा रहा है ।

कौन हैं अनिल शर्मा

कभी बसपा सुप्रीमो और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के करीबी रह चुके शिकारपुर से भाजपा विधायक प्रदेश की योगी सरकार के मंत्रिमंडल में राज्य मंत्री हैं। शर्मा शिकारपुर तहसील के गांव सुरजावली के रहने वाले हैं। उनके दादा लक्ष्मी चंद शर्मा नंबरदार जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रह चुके हैं।

शैक्षिक योग्यता और सियासी सफर

उन्‍होंने हाईस्कूल और इंटर की परीक्षा प्रथम श्रेणी से बुलंदशहर के जेपी इंटर काॅलेज से पास की थी। फिर वह बीएसएसी करने दिल्‍ली चले गए। उनका राजनीतिक करियर 1989 में शुरू हुआ। 1989 में वह सुरजावली गांव के प्रधान बने।

वर्ष 2002 में उन्‍होंने बसपा के टिकट पर खुर्जा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ा। इसमें उन्‍हें जीत हासिल हुई। इसके बाद 2007 के विधानसभा चुनाव में भी उन्‍होंने खुर्जा से बसपा के टिकट पर जीत हासिल की। परिसीमन के बाद खुर्जा की सीट सुरक्षित श्रेणी में आ गई तो अनिल शर्मा ने शिकारपुर का रुख किया।

बसपा के टिकट पर लड़ा चुनाव

2012 के विधानसभा चुनाव में उन्‍होंने शिकारपुर से बसपा के चिन्‍ह पर चुनाव लड़ा। उस चुनाव में उनको बाहुबली गुड्डू पंडित के भाई सपा के मुकेश शर्मा से हार का सामना करना पड़ा। 2017 में हुए विधानसभा चुनाव से पहले अनिल शर्मा ने भाजपा ज्‍वाइन कर ली थी। पिछले चुनाव वह भाजपा के टिकट पर शिकारपुर विधानसभा सीट से विधायक बने। चुनाव में अनिल ने अपने समधी बसपा प्रत्याशी मुकुल शर्मा को पराजित किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here