Saturday, September 24, 2022

Mohali MMS Leak: मोहाली यूनिवर्सिटी में 6 दिन के लिए क्लासेस बंद, दो वॉर्डन सस्पेंड

वेबवार्ता: Chandigarh University MMS: पंजाब के मोहाली की एक प्राइवेट यूनिवर्सिटी (Mohali MMS Leak) में वायरल वीडियो कांड के बाद कक्षाएं छह दिन के लिए सस्पेंड कर दी गई हैं। इस कांड के बाद यूनिवर्सिटी के गर्ल्स हॉस्टल के दो वॉर्डन भी हटा दिया गया है जबकि बाकी वॉर्डन का तबादला किया जा रहा है। साथ ही हॉस्टल की टाइमिंग भी बदली जा रही है।

इससे पहले रविवार देर रात तक यूनिवर्सिटी (Mohali MMS Leak) की छात्राओं ने प्रदर्शन किया। अधिकारियों की ओर से सभी मांगें स्वीकार करने के बाद रात डेढ़ बजे छात्रों ने धरना खत्म किया।

यूनिवर्सिटी प्रशासन लगातार यह कह रहा है कि आरोपी छात्रा ने दूसरी लड़कियों के वीडियो (Mohali MMS Leak) नहीं बनाए थे। मामले में आईपीसी की धारा- 354 सी और आईटी ऐक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है और आरोपी छात्रा को गिरफ्तार कर लिया गया है। छात्राओं को मामले की एफआईआर कॉपी भी उपलब्ध कराई गई।

छात्राओं से मिले पुलिस अधिकारी

घटना के बाद पंजाब की अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) गुरप्रीत देव, मोहाली के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विवेक शील सोनी और जीपीएस भुल्लर सहित अन्य शीर्ष अधिकारी व उपायुक्त सहित मोहाली जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी हालात का जायजा लेने के लिए विश्वविद्यालय परिसर पहुंचे।

विश्वविद्यालय परिसर में संवाददाताओं को एडीजीपी देव ने बताया कि सोशल मीडिया पर मामले को लेकर कई अफवाहें फैल रही हैं। उन्होंने कहा कि हॉस्टल में चार हजार छात्राएं रहती हैं और पुलिस ने उनमें से एक को गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने कहा कि उसका फोन पुलिस के कब्जे में है और राज्य साइबर अपराध शाखा जांच कर रही है।

पुलिस ने बताई दूसरी थिअरी

देव ने कहा, ‘मामले का दूसरा हिस्सा यह है कि छात्रावास में छात्राओं के एक समूह ने आरोपी को कुछ ऐसा करते देखा जो आपत्तिजनक था। अतिरिक्त डीजी होने और महिला एवं बाल अधिकार विभाग का प्रभार संभालने के नाते मुझे छात्राओं से बातचीत करने की जिम्मेदारी सौंपी गई क्योंकि इस मामले को लेकर काफी सारी अफवाहें फैल रही हैं।’

उन्होंने कहा, ‘हमने 50-60 छात्राओं से बातचीत की जो उसी फ्लोर पर आरोपी छात्रा के साथ रहती हैं। अधिकतर अलग बातें कर रही हैं और एक-दूसरे को जानती नहीं हैं।’ वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि छात्राएं कथित तौर पर सोशल मीडिया पर ‘वीडियो’ सार्वजनिक किए जाने से विशेष रूप से चिंतित थीं।

‘आरोपी छात्रा के मोबाइल से दूसरे वीडियो नहीं मिले’

देव ने बताया कि तीन से चार छात्राओं ने आरोपी को वॉशरूम में देखा जहां वह अपने फोन से कुछ तस्वीरें ले रही थी और ‘उन्हें लगा कि वह दरवाजे के नीचे से तस्वीरें ले रही है…..। इसके बाद उन्होंने वार्डन को इसकी जानकारी दी और इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई।’

उन्होंने कहा, ‘मैं स्पष्ट करना चाहती हूं कि छात्राएं अब संतुष्ट हैं क्योंकि उनकी चिंताओं का निवारण कर दिया गया है। छात्राएं यह जानना चाहती थीं कि आरोपी के फोन में अन्य छात्राओं के वीडियो हैं अथवा नहीं। प्रथम दृष्टया हमें ऐसे वीडियो नहीं मिले हैं।’

पढ़ें देश-विदेश की ख़बरें अब हिन्दी में (Hindi News)| Webvarta की ताजा खबरों के लिए हमें Google News पर फॉलो करें |

Similar Articles

Most Popular