दुनिया से चले जाने वालों के लिए की गईं दुआएं

0
48
Prayers made for those who go out of the world

-जमीयत उलमा ए हिंद ने किया इसाले सवाब और दुआओं का एहतमाम
-महासचिव मौलाना हकीमुद्दीन क़ासमी ने मरहूम शहाबुद्दीन के पुत्र से प्रकट की शोक संवेदना

नई दिल्ली, 29 मई (अनवार अहमद नूर )। आज बाद नमाज़ असर जमीयत उलमा ए हिंद की ओर से मस्जिद अबदुननबी नई दिल्ली में मरहूमीन (मरने वालों) यानि इस दुनिया को छोड़ कर चले गए लोगों के सवाब के लिए तिलावत कुरआन पाक और दुआओं का एहतमाम किया गया।

इस मौके पर सिवान बिहार के मरहूम शहाबुद्दीन के पुत्र ओसामा और जमीयत उलमा ए हिंद के महासचिव मौलाना हकीमुद्दीन का़समी, मौलाना अजीमुल्लाह क़ासमी,जुबेदीन फौजी, डॉ. मसूद, मौलाना गय्यूर क़ासमी, मौलाना ज़ियाउल्लाह क़ासमी, मुल्ला जी अब्दुल मजीद मोहतमिम मजीदिया जामिया अनवारूल कुरआन हामिदिया बागपत, मकीसू, सईद अहमद सहित जमीयत के समस्त स्टाफ मौजूद रहे।

मौलाना हकीमुददीन क़ासमी साहब ने मरहूम शहाबुद्दीन साहब के पुत्र ओसामा से शोक संवेदना प्रकट करते हुए कहा कि हम सभी आपके गम में बराबर के भागीदार हैं। अल्लाह आपको और आपके परिवार को सब्र ए जमील अता फरमाए।

मौलाना ने बताया कि पिछले दिनों में सदर क़ारी मोहम्मद उस्मान मंसूरपुरी साहब के अलावा अनेक लोग इस दुनिया ए फानी से कूच कर गए। जिनमें जमीयत के स्टाफ मोहम्मद आदिल की भाभी साहिबा, अलजमीयत के सईद अख्तर, शांति मिशन के अनवार अहमद नूर की अहिल्या (पत्नी), हाफ़िज बशीर की वालिदा मोहतरमा आदि हैं।

जमीयत उलमा ए हिंद के कई राज्यों के कई अहम लोग भी इंतकाल फरमा गए हैं। सभी मरने वालों के लिए सवाब पहुंचाने और उनके हक में दुआएं करने के लिए असर की नमाज़ के बाद तिलावत कुरआन पाक की गई। इमाम मस्जिद अबदुननबी मौलाना कलीमउद्दीन क़ासमी साहब ने दुआ कराई। जमीयत के अध्यक्ष मौलाना क़ारी सैयद मोहम्मद उस्मान मंसूरपुरी साहब मरहूम, शहाबुद्दीन साहब मरहूम और शांति मिशन के उपसंपादक की पत्नी सुआलेहा बेगम मरहूम सहित समस्त मरहूमीन की मगफिरत के लिए दुआएं की गईं।

अल्लाह सभी को माफ फरमा कर जन्नतुल फिरदौस में आला मक़ाम अता फरमाए। और उन सभी के परिवार वालों और निकट संबंधियों को सब्र अता फरमाए। आमीन । इस अवसर पर जहां एक ओर जमीयत उलमा ए हिंद के सभी कारकुन शरीक रहे वहीं दूसरी ओर मीडिया के सईद अहमद और अब्दुर रशीद भी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here