राहुल गांधी बोले- 2014 के बाद विपक्ष सत्ता के लिए नहीं भारत के लिए कर रहा है संघर्ष

0
147
Webvarta Desk: कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Congress Leader Rahul Gandhi) ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) के अहंकार से लड़ने के लिए कांग्रेस को बदलना होगा और विनम्र बने रहना होगा। इसके साथ ही राहुल ने कहा कि 2014 के बाद से विपक्ष सत्ता के लिए नहीं बल्कि भारत के लिए संघर्ष कर रहा है।

भारत के पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार और अब अमेरिका के कॉर्नेल विश्वविद्यालय में प्रफेसर कौशिक बसु (Kaushik Basu) के साथ बातचीत में राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Govt) के खिलाफ प्रतिरोध को एक साथ लाते हुए, कांग्रेस पार्टी (Congress) को लोगों के लिए खुद को खोलना और स्वयं को उनके सामने प्रस्तुत करना होगा।

‘हम भारत की शक्ति को एकसाथ लाएंगे’

हालिया चुनावी हार के मद्देनजर कांग्रेस के लिए उनकी दृष्टि के बारे में पूछे जाने पर पार्टी के पूर्व अध्यक्ष (Congress Leader Rahul Gandhi) ने कहा, ‘प्रतिरोधों को एकत्र करें और इसे एक साथ लाएं। सभी मोर्चों पर, विभिन्न प्रकार के लोगों का विरोध है… और कांग्रेस पार्टी को उनका सम्मान करने और उन्हें ग्रहण करने के लिये लचीला होना होगा।’

उन्हेांने (Congress Leader Rahul Gandhi) जोर देकर कहा, ‘पार्टी को खुद को बदलना होगा। उसे भूमिका अदा करने के लिए स्वयं में बदलाव लाना होगा। याद करिये जब हमने कांग्रेस पार्टी की शुरूआत की थी तो यह मूल रूप से प्रतिरोधों को एक साथ ला रही थी, हमें उन दिनों में निष्क्रिय प्रतिरोध कहा जाता था, क्योंकि हमारा प्रतिरोध हिंसक नहीं था, और हम अब भी वैसे नहीं हैं, इसलिए हम कभी भी हिंसक रूप से कुछ भी नहीं करेंगे, कुछ भी आक्रामक नहीं करेंगे… लेकिन हम भारत की शक्ति को एक साथ लाएंगे।’

‘…कांग्रेस को विनम्र बनना होगा’

राहुल ने कहा कि कांग्रेस को खुद को भारत के लोगों के लिए खुलना होगा और आगे बढ़ने के लिए इसे खुद को प्रस्तुत करना होगा। उन्होंने कहा, ‘इसे (कांग्रेस को) विनम्र बनना होगा क्योंकि इसका संघर्ष अहंकार से है… यह आसान बदलाव नहीं है बल्कि एक कठिन बदलाव है।’

राहुल ने कहा कि देश में अभी जो कुछ हो रहा है, उससे बड़ी संख्या में लोग खुश नहीं हैं और कांग्रेस को इन सभी ताकतों को एक साथ लाना होगा। उन्होंने कहा, ‘मेरा वास्तव में मानना है कि न केवल कांग्रेस पार्टी बल्कि पूरा विपक्ष 2014 के बाद सत्ता के लिये संघर्ष नहीं कर रहा है, अब हम भारत के लिए लड़ रहे हैं। हम अब भारत के लिए संघर्ष कर रहे हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here