कोरोना महामारी से देश पूरी ताक़त से लड़ रहा : Pm Modi

0
248
pm modi
Source: Google

नई दिल्ली, 30 मई (वेबवार्ता)। पीएम नरेंद्र मोदी (pm modi) ने रविवार को कहा कि पिछले 100 सालों में सबसे बड़ी कोरोना महामारी के ख़िलाफ़ देश पूरी ताकत के साथ लड़ रहा है। श्री मोदी ने अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम मन की बात (mann ki baat) में आज कहा कि देश पूरी ताकत के साथ कोविड से लड़ रहा है और पिछले 100 सालों में ये सबसे बड़ी महामारी है। इसी महामारी के बीच भारत ने अनेक प्राकृतिक आपदाओं का भी डटकर मुकाबला किया है। इस दौरान चक्रवात अम्फान, निसर्ग, अनेक राज्यों में बाढ़ आई, अनेक भूकंप आए, भूस्खलन हुए।

उन्होंने कहा कि कोरोना काल (corona) में चक्रवात से प्रभावित हुए सभी राज्यों के लोगों ने जिस प्रकार से साहस का परिचय दिया है, इस संकट की घड़ी में बड़े धैर्य के साथ, अनुशासन के साथ मुकाबला किया है। केंद्र, राज्य सरकार और प्रशासन सभी एकजुट होकर आपदा का सामना करने में जुटे हैं। देश और देश की जनता इनसे पूरी ताकत से लड़ी और कम से कम जनहानि सुनिश्चित की।

Modiश्री मोदी (pm modi) ने कहा कि अभी-अभी पिछले 10 दिनों में ही देश ने, फिर दो बड़े चक्रवात का सामना किया। पश्चिमी तट पर चक्रवात ‘ताऊ-ते’ (cyclone taute) और पूर्वी तट पर चक्रवात ‘यास’ (cyclone yaas) । इन दोनों चक्रवातों ने कई राज्यों को प्रभावित किया है। देश और देश की जनता इनसे पूरी ताक़त से लड़ी और कम से कम जनहानि सुनिश्चित की।

उन्होंने कहा, “हम अब ये अनुभव करते हैं कि पहले के वर्षों की तुलना में, ज़्यादा से ज़्यादा लोगों की जान बचा पा रहे हैं। विपदा के इस कठिन और असाधारण परिस्थिति में चक्रवात से प्रभावित हुए सभी राज्यों के लोगों ने जिस प्रकार से साहस का परिचय दिया है, इस संकट की घड़ी में बड़े धैर्य के साथ, अनुशासन के साथ मुक़ाबला किया है- मैं आदरपूर्वक, हृदयपूर्वक सभी नागरिकों की सराहना करना चाहता हूँ।”

उन्होंने कहा, “जिन लोगों ने आगे बढ़कर राहत और बचाव के कार्य में हिस्सा लिया, ऐसे सभी लोगों की जितनी सराहना करें, उतनी कम है। मैं उन सब को सलाम करता हूँ। केंद्र, राज्य सरकारें और स्थानीय प्रशासन सभी, एक साथ मिलकर इस आपदा का सामना करने में जुटे हुए हैं। मैं उन सभी लोगों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूँ, जिन्होंने अपने करीबियों को खोया है। हम सभी इस मुश्किल घड़ी में उन लोगों के साथ मज़बूती से खड़े हैं, जिन्होंने इस आपदा का नुक़सान झेला है।”

मोदी ने कोरोना के खिलाफ अभियान में सशस्त्र बलों को नमन किया

PM Modiप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (pm modi) ने कोरोना महामारी के दौरान देश में ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए चलाये गये अभियान में सशस्त्र बलों की भूमिका की सराहना करते हुए उन्हें सलाम किया है। श्री मोदी ने रविवार को रेड़ियो पर अपने मासिक कार्यक्रम मन की बात (mann ki baat) में कहा कि कोरोना महामारी के दौरान जब देश ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहा था तो नभ, जल, थल और रेल मार्ग सभी माध्यमों से देश और विदेशों से ऑक्सीजन की आपूर्ति की गयी।

उन्होंने कहा कि इस दौरान सशस्त्र बलों के सैनिकों ने दिन रात करके देश में ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित की और बड़ी संख्या में लोगों की जान बचायी। उन्होंने विदेशों से ऑक्सीजन लाने के लिए कई घंटे की उडान भरने वाले वायु सेना के ग्रुप कैप्टन ए के पटनायक से बात की। प्रधानमंत्री ने उनकी बेटी अदिति के साथ भी बात की। ग्रुप कैप्टन और उनकी बेटी ने अपने अपने अनुभव प्रधानमंत्री के साथ साझा किये।

ग्रुप कैप्टन पटनायक ने कहा, “इस संकट के समय में हमारे देशवासियों को मदद कर सकते हैं यह हमारे लिए बहुत ही सौभाग्य का काम है सर और यह जो भी हमें मिशन मिले हैं हम बख़ूबी से उसको निभा रहे हैं। हमारी ट्रेनिग और स्पोर्ट सर्विस जो हैं, हमारी पूरी मदद कर रहे हैं और सबसे बड़ी चीज़ है सर, इसमें जो हमें कार्य संतुष्टि मिल रही है वो बहुत ही हाई लेवल पे है और इसी कि वजह से हम निरंतर अभियान चला पा रहे हैं।”

श्री मोदी (pm modi) ने कहा कि वह सशस्त्र बलों के सभी सैनिकों को नमन करते हैं कि उन्होंने अपने कर्तव्य को निभाते हुए दिन रात देश की सेवा की और देश के कोने कोने में ऑक्सीजन पहुंचाकर लोगों की जान बचायी। उन्होंने कहा कि यह एक टीम वर्क है सब इसमें अपनी भूमिका निभा रहे हैं । इससे पूरे देश को प्रेरणा मिलती है।

सात साल में दशकों पुराने विवाद शांति से सुलझाए : pm modi

pm modiप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (pm modi) ने रविवार को कहा कि उनके सात साल के कार्यकाल में देश और देशवासियों ने अनेक उपलब्धियाँ हासिल करते हुए दशकों पुराने विवादों को शांति से सुलझाया। श्री मोदी ने अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम मन की बात (mann ki baat) में आज कहा कि सात वर्षों में देश के अनेकों पुराने विवाद पूरी शांति और सौहार्द से सुलझाए गए हैं। पूर्वोतर से लेकर कश्मीर तक शांति और विकास का एक नया भरोसा जगा है।

उन्होंने कहा कि इन सात सालों में भारत ने ‘डिजिटल लेन देन’ में दुनिया को नई दिशा दिखाने का काम किया है। आज किसी भी जगह जितनी आसानी से आप चुटकियों में डिजिटल पेमेंट कर देते हैं, वो कोरोना के इस समय में भी बहुत उपयोगी साबित हो रहा है। आज स्वच्छता के प्रति देशवासियों की गंभीरता और सतर्कता बढ़ रही है। हम रेकॉर्ड सैटेलाइट भी प्रक्षेपित कर रहे हैं और रेकॉर्ड सड़कें भी बना रहे हैं।

प्रधानमंत्री (pm modi) ने कहा कि इन सात वर्षों में देश ‘सबका-साथ, सबका-विकास, सबका-विश्वास’ के मंत्र पर चला है। देश की सेवा में हर क्षण समर्पित भाव से हम सभी ने काम किया है। क्या आपने सोचा है, ये सब काम जो दशकों में भी नहीं हो सके, इन सात सालों में कैसे हुए? ये सब इसीलिए संभव हुआ क्योंकि इन 7 सालों में हमने सरकार और जनता से ज्यादा एक देश के रूप में काम किया, एक टीम के रूप में काम किया।

टीम इंडिया (team india) के रूप में काम किया। हर नागरिक ने देश को आगे बढ़ाने में एकाध-एकाध कदम आगे बढ़ाने का प्रयास किया है। हां! जहाँ सफलताएँ होती हैं, वहाँ परीक्षाएँ भी होती हैं। इन 7 सालों में हमने साथ मिलकर ही कई कठिन परीक्षाएँ भी दी हैं और हर बार हम सभी मज़बूत होकर निकले हैं। कोरोना महामारी के रूप में, इतनी बड़ी परीक्षा तो लगातार चल रही है। ये तो एक ऐसा संकट है जिसने पूरी दुनिया को परेशान किया है, कितने ही लोगों ने अपनों को खोया है। बड़े-बड़े देश भी इसकी तबाही से बच नहीं सके हैं। इस वैश्विक-महामारी के बीच भारत, ‘सेवा और सहयोग’ के संकल्प के साथ आगे बढ़ रहा है।”

भारत पहले से दस गुना ऑक्सीजन उत्पादन कर रहा : pm modi

PM Modiप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (pm modi) ने रविवार को कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की मांग अचानक बढ़ने के बाद पहले से 10 गुना ऑक्सीजन उत्पादन किया जा रहा है। श्री मोदी ने अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम मन की बात में आज कहा कि महामारी के दौरान जवानों और कोरोना योद्धाओं ने जो काम किया है, इसके लिए देश इन्हें सलाम करता है। इस तरह की आपदा तो दुनिया पर सौ साल बाद आई है, एक शताब्दी के बाद इतना बड़ा संकट! इसलिए, इस तरह के काम का किसी के पास कोई भी अनुभव नहीं था। इसके पीछे देशसेवा का जज़्बा है और एक संकल्पशक्ति है। इसी से देश ने वो काम किया है जो पहले कभी नहीं हुआ।

उन्होंने कहा, “आप अंदाज़ा लगा सकते हैं, सामान्य दिनों में हमारे यहाँ एक दिन में 900 टन तरल मेडिकल औक्सीजन का उत्पादन होता था। अब ये 10 गुना से भी ज्यादा बढ़कर करीब 9500 टन प्रतिदिन उत्पादन हो रहा है। इस ऑक्सीजन को हमारे योद्धा देश के दूर-सुदूर कोने तक पहुँचा रहे हैं।” उन्होंने कहा कि जब कोरोना की दूसरी लहर आई, अचानक से ऑक्सीजन की माँग कई गुना बढ़ गई तो बहुत बड़ी चुनौती था। मेडिकल ऑक्सीजन का देश के दूर-सुदूर हिस्सों तक पहुँचाना अपने आप में बड़ी चुनौती थी। ऑक्सीजन टैंकर ज़्यादा तेज़ चले। छोटी-सी भी भूल हो, तो उसमें बहुत बड़े विस्फोट का ख़तरा होता है।

औद्योगिक ऑक्सीजन का उत्पादन करने वाले काफी प्लांट देश के पूर्वी हिस्सों में हैं वहाँ से दूसरे राज्यों में ऑक्सीजन पहुँचाने के लिए भी कई दिन का समय लगता है। देश के सामने आई इस चुनौती में देश की मदद की क्रयोजेनिक टैंकर चलाने वाले चालकों ने, ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने, वायुसेना के पायलट। ऐसे अनेकों लोगों ने युद्ध-स्तर पर काम करके हज़ारों-लाखों लोगों का जीवन बचाया। उन्होंने कहा कि चुनौती के इसी समय में, ऑक्सीजन के एक जगह से दूसरी जगह ले जाने को आसान करने के लिए भारतीय रेल भी आगे आई है।

ऑक्सीजन एक्सप्रेस, ऑक्सीजन रेल ने सड़क पर चलने वाले ऑक्सीजन टैंकर से कहीं ज्यादा तेज़ी से, कहीं ज्यादा मात्रा में ऑक्सीजन देश के कोने-कोने में पहुंचाई है। माताओं-बहनों को ये सुनकर गर्व होगा कि एक ऑक्सीजन एक्सपरेस तो पूरी तरह महिलाएँ ही चला रही हैं। देश की हर नारी को इस बात का गर्व होगा। इतना ही नहीं, हर हिन्दुस्तानी को गर्व होगा। श्री मोदी ने कहा कि ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए देश में इतने प्रयास हुए, इतने लोग जुटे, एक नागरिक के तौर पर ये सारे कार्य प्रेरणा देते हैं। एक टीम बनकर हर किसी ने अपना कर्तव्य निभाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here