बच्चों, युवाओं के लिए हमें करनी होगी आगे की तैयारी : Pm Modi

0
250
PM Modi

-कोरोना पर देश के 54 जिलों के डीएम से PM मोदी ने किया संवाद

नई दिल्ली, 20 मई (वेबवार्ता)। देश में कोरोना (Corona Virus) की दूसरी लहर के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) देश के अलग-अलग जिलों के जिलाधिकारियों से संवाद कर रहे हैं। गुरुवार को इस कड़ी में पीएम मोदी ने कुल 10 राज्यों के 54 डीएम के साथ वर्चुअल बैठक की। पीएम मोदी ने 10 राज्यों-छत्तीसगढ़, हरियाणा, केरल, महाराष्ट्र, ओडिशा, पुडुचेरी, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश के डीएम और फील्ड अधिकारियों के साथ बातचीत की।

इस दौरान पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि कोरोना वायरस (Corona Virus) ने आपके काम को और अधिक मांग और चुनौतीपूर्ण बना दिया है। नई चुनौतियों के बीच हमें नई रणनीतियों और समाधानों की जरूरत है। स्थानीय अनुभवों का उपयोग करना महत्वपूर्ण हो जाता है और हमें एक देश के रूप में मिलकर काम करने की आवश्यकता है।

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि आपके फील्डवर्क, आपके अनुभवों और फीडबैक से हमें प्रभावी नीतियां बनाने में मदद मिलती है। यहां तक ​​कि टीकाकरण अभियान (Corona Vaccination) ) की रणनीति बनाने के लिए भी हम राज्यों और अन्य हितधारकों द्वारा दिए गए सुझावों के साथ आगे बढ़ रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) 15 दिनों के लिए राज्यों को टीके के संबंध में जानकारी प्रदान कर रहा है। वैक्सीन की आपूर्ति से आपको टीकाकरण की समय-सीमा को प्रबंधित करने में मदद मिलेगी। पीएम मोदी ने कहा कि वैक्सीन की बर्बादी का मुद्दा है। एक खुराक भी बर्बाद करने का मतलब है जीवन को ढाल न दे पाना। वैक्सीन की बर्बादी रोकना जरूरी है।

इस दौरान पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि जीवन बचाने के साथ-साथ हमारी प्राथमिकता जीवन को आसान बनाए रखने की भी है। गरीबों के लिए मुफ्त राशन की सुविधा हो, दूसरी आवश्यक सप्लाई हो, कालाबाज़ारी पर रोक हो, ये सब इस लड़ाई को जीतने के लिए भी जरूरी हैं, और आगे बढ़ने के लिए भी आवश्यक है।

पीएम मोदी ने कहा कि दूसरी लहर के बीच वायरस म्यूटेशन (Mutation) की वजह से अब युवाओं और बच्चों के लिए ज्यादा चिंता जताई जा रही है। आपने जिस तरह से फील्ड पर काम किया है इसने इस चिंता को गंभीर होने से रोकने में मदद तो की है, लेकिन हमें आगे के लिए तैयार रहना ही होगा।

18 मई को पीएम मोदी नौ राज्यों के 46 डीएम के साथ बैठक कर चुके हैं। कोरोना संक्रमण के दौरान पहली बार प्रधानमंत्री सीधे डीएम से संवाद स्थापित कर रहे हैं। पहली लहर में गृह मंत्री अमित शाह अथवा केंद्रीय गृह सचिव एनसीआर के डीएम से संवाद करते थे। अब दूसरी लहर और तीसरी लहर की तैयारियों को लेकर प्रधानमंत्री, डीएम से संवाद कर रहे हैं।

ममता बनर्जी भी लिया बैठक में हिस्सा

इस बैठक में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Benarjee) भी मौजूद रहीं। ये पहला मौका है जब बंगाल चुनाव में जीत के बाद ममता बनर्जी, पीएम मोदी के साथ किसी कार्यक्रम में शामिल हुए।

हर जिले में कोरोना कमांड सेंटर (Corona Command Center)  स्थापित करने का सुझाव

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के तहत एक थिंक टैंक ने सुझाव दिया है कि हर जिले में कोरोना कमांड सेंटर स्थापित किया जाना चाहिए जो जरूरी बुनियादी ढांचे और मानव संसाधन से सुसज्जित हो। ताकि गांवों और उसके बीच सूचनाओं का दोनों ओर से आदान-प्रदान हो सके।

द टेक्नोलाजी इंफोरमेशन फोरकास्टिंग एंड असेसमेंट काउंसिल के सुझाव के मुताबिक, इसकी मदद से उपलब्ध संसाधनों और आंकड़ों का अन्य वैज्ञानिक उद्देश्यों के लिए अधिकतम इस्तेमाल हो सकेगा। काउंसिल के मुताबिक, सभी जिलों के कोरोना कमांड सेंटर (Corona Command Center)  राज्य के कोरोना कमांड सेंटर से जुड़े होने चाहिए जो पूरे राज्य का सूचना भंडार केंद्र होगा। इसी तरह सभी राज्य कोरोना कमांड केंद्र केंद्रीय कोरोना कमांड केंद्र से जुड़े होने चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here