Eye Drop Killed | अमेरिका में भारतीय कंपनी की आई ड्रॉप से ​​मौत, कई की आंखों की चली गई रौशनी

File Photo

File Photo

वाशिंगटन: अमेरिका में आई ड्रॉप बनाने वाली एक भारतीय कंपनी विवादों में घिर गई है। संयुक्त राज्य अमेरिका में आंखों के इन्फेक्शन ने कई लोगों की जान ले ली है। इसके बाद भारतीय कंपनी ग्लोबल फार्मा हेल्थकेयर (Global Pharma Healthcare) ने बाजार से आई ड्रॉप्स वापस मंगवा लिए हैं। यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने इस बात की जानकारी दी है। एक भारतीय कंपनी द्वारा निर्मित आई ड्रॉप (Eye Drop) के इस्तेमाल से एक व्यक्ति की मौत हो गई। इसलिए FDA ने कहा कि अमेरिकी बाजार से कंपनी के ड्रॉप्स को वापस मंगवा लिया गया है। 

आंख से अधिक खून बहने से एक की मौत 

ऐज़्रीकेयर ड्रॉप के प्रभाव के कुल 55 मामले सामने आए हैं। FDA ने बताया कि चेन्नई स्थित ग्लोबल फार्मा हेल्थकेयर कंपनी द्वारा निर्मित बूंदों के संदेह के कारण वापस बुलाया जा रहा है। एक भारतीय दवा कंपनी की आई ड्रॉप से ​​अमेरिका के कई राज्यों में संक्रमण के कई मामले सामने आए हैं। इसलिए, रोग नियंत्रण केंद्र ने एफडीए को अधिसूचित किया। अब तक जो घटनाएं सामने आई हैं उनमें कई लोगों की आंखों की रोशनी चली गई है। बहुत से लोगों को आंखों में संक्रमण होता है। आंख से अधिक खून बहने से एक की मौत हो गई। इस ड्रॉप का इस्तेमाल आंखों की जलन और खुश्की को रोकने के लिए किया जाता है। 

यह भी पढ़ें

बाजार से आई ड्रॉप्स वापस

इस मामले में ग्लोबल फार्मा हेल्थकेयर ने अपनी वेबसाइट पर एक बयान जारी किया है। Aru Pharma Inc और Delsum Pharma इस उत्पाद के वितरकों को निर्देश दिया गया है कि वे बाजार से आई ड्रॉप्स वापस लें और उनका उपयोग बंद कर दें। कंपनी ने एक बयान में कहा कि अगर इस दवा के इस्तेमाल के बाद आपको कोई समस्या महसूस होती है तो आपको अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। आर्टिफिशियल टीयर्स लुब्रिकेंट आई ड्रॉप्स का इस्तेमाल आंखों में जलन और रूखेपन से राहत दिलाने के लिए किया जाता है। ग्लोबल फार्मा हेल्थकेयर दक्षिण पूर्व एशिया, मध्य अमेरिका, अफ्रीका के विभिन्न देशों में प्रचलित है।

ताजा समाचार

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here