Jaipur: गणपति प्लाजा के लॉकर उगल रहे गोल्ड और रुपए, अब तक करोड़ों की नगदी और सोना हुआ बरामद

Jaipur: राजस्थान में जहां एक तरफ विधानसभा चुनाव की गूंज है तो वहीं दूसरी तरफ जयपुर में आयकर विभाग की चल रही एक कार्रवाई चर्चा में बनी हुई है। राज्य की राजधानी जयपुर में आयकर विभाग गणपति प्लाजा के रॉयल सेफ्टी वॉलेट लॉकर में छानबीन कर रहा है। यहां आयकर विभाग को अब तक करोड़ों रुपए और कई किलो सोना समेत कई अन्य चीजें बरामद हुई हैं। आयकर विभाग की इस कार्रवाई को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत बीजेपी के कई नेता कांग्रेस और अशोक गहलोत सरकार पर तीखा हमला बोल रहे हैं।

शुक्रवार को बरामद हुए 95 लाख रुपए 

सैकड़ों लॉकर में से शुक्रवार 17 नवंबर को सात लॉकर खोले गए। जिसमें से दो लॉकरों में से 95 लाख रुपए समेत काफी बड़ी मात्रा में सोने के गहने बरामद हुए हैं। आयकर विभाग ने बताया कि यहां कुल 210 लॉकरों की पहचान की गई है। इन लॉकर धारकों में से 189 को 7 चरणों में समन जारी किया गया था। 21 लॉकरों में कोई केवाईसी नहीं है या धारकों की बहुत कम जानकारी है, जिसकी पहचान नहीं की जा सकी, इसलिए समन नहीं भेजा जा सका।

अब तक खोले जा चुके हैं 166 लॉकर 

आयकर विभाग ने बताया कि इन धारकों की पहचान करने के सभी प्रयास किए गए लेकिन उनकी पहचान या पता नहीं लगाया जा सका। ऐसे अधिकांश लॉकरों का कोई परिचालन इतिहास भी नहीं है और कई पिछले 6 वर्षों में संचालित नहीं किए गए हैं। इन 210 लॉकरों में से 166 लॉकर खोले जा चुके हैं और इनमें से 10.99 करोड़ की नगदी, 11.315 किलो सोना बरामद किया जा चुका है।

बीजेपी सांसद किरोड़ीलाल मीणा ने उठाया था मामला 

बता दें कि भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा सांसद किरोड़ीलाल मीणा ने कुछ दिनों आरोप लगाया था कि राजस्थान में हुए पेपरलीक से हुई अवैध उगाही की कमाई यही के लॉकरों में रखी गई है। उन्होंने आरोप लगाया था कि गणपति प्लाजा के बेसमेंट में बने  100 लॉकर्स में 500 करोड़ रुपये का कालाधन और 50 किलो सोने जमा किया गया है। उन्होंने केंद्र सरकार और विभिन्न जांच एजेंसियों से इस मामले की जांच करनबे की मांग की थी।