Opposition Alliance: मोदी को हराने के लिए 26 विपक्षी दलों ने बनाया ‘INDIA’, राहुल गांधी ने बताया इस नाम के पीछे की कहानी

2024 के लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस की मेजबानी में नया विपक्षी मोर्चा (Opposition Alliance) बन गया है। आज बेंगलुरु में 26 विपक्षी दलों की बैठक के दौरान गठबंधन के नाम पर मुहर लग गई। अब तक समझा जा रहा था कि विपक्षी गठबंधन का नाम UPA ही रह सकता है। हालांकि दोपहर 3 बजते-बजते साफ हो गया कि एनडीए के सामने अगले चुनाव में ‘INDIA’ लड़ेगा।

जी हां, I से इंडियन, N से नेशनल, D से डेवेलपमेंटल, I से इनक्लूसिव और A से एलायंस होगा। इंडिया नाम रखने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। विपक्षी नेताओं (Opposition Alliance) के धड़ाधड़ आ रहे ‘चक दे इंडिया’ वाले ट्वीट से साफ हो गया है कि विपक्ष ने कौन सा दांव चला है। अब चुनाव में बार-बार इंडिया नाम सुना जाएगा, जो राष्ट्रवाद की भावना से ओत-प्रोत होगा।

दरअसल, भाजपा की अगुआई वाला एनडीए राष्ट्रवाद की काफी बातें करता है। समझा जा रहा है कि एक नया मूमेंटम पैदा करने और मोदी-शाह की जोड़ी के खिलाफ माहौल पैदा करने के लिए काफी सोच-समझकर यह नाम चुना गया है। सूत्रों ने बताया है कि राहुल गांधी ने विपक्षी मोर्चे (Opposition Alliance) का नाम ‘INDIA’ रखने का प्रस्ताव रखा, जिसे सभी दलों ने स्वीकार कर लिया। बाद में राहुल ने बताया कि इंडिया नाम क्यों चुना गया।

यह भी पढ़ें: Second hand Cars: पुरानी सस्ती कार खरीदनी है? 1 लाख रुपये से कम में मिल रही ये गाड़ियां

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बताया कि यह NDA और INDIA की लड़ाई है। नरेंद्र मोदी और इंडिया के बीच लड़ाई है। उनकी विचारधारा और इंडिया के बीच की लड़ाई है। हमने निर्णय लिया है कि हम एक एक्शन प्लान तैयार करेंगे और एक साथ मिलकर देश में हमारी विचारधारा और हम जो करने जा रहे हैं उसके बारे में बोलेंगे।

2024 में INDIA बनाम NDA होगा

उद्धव ठाकरे गुट की शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने भी ट्वीट कर कहा, ‘तो इस बार 2024 होगा, टीम INDIA Vs टीम NDA चक दे इंडिया!’ नाम बदलने के पीछे एक सोच यह भी हो सकती है कि UPA मोर्चे से काफी कुछ संकेत 2004 और 2009 जैसे मिलते। विपक्षी दल चाहते हैं कि एनडीए के खिलाफ नई मुहिम शुरू हो। हो सकता है कि कांग्रेस पर मोर्चे (Opposition Alliance) का नाम बदलने का दबाव भी रहा हो। यूपीए की अगुआ कांग्रेस थी और इस बार शायद तमाम विपक्षी दल अभी किसी को अगुआ मानने के मूड में न हों।

उधर, राष्ट्रीय जनता दल ने ट्वीट कर भाजपा पर तंज कसा। ट्वीट में कहा गया, ‘विपक्षी दलों का गठबंधन भारत का प्रतिबिंब है। अब भाजपा को INDIA कहने में भी पीड़ा होगी।’ हालांकि कुछ देर बाद ही पार्टी का यह ट्वीट डिलीट कर दिया गया। सोशल मीडिया पर INDIA गठबंधन की चर्चा होने लगी है। भारत में INDIA vs NDA ट्रेंड करने लगा है।

Leave a Comment