विश्व कप से अमेरिकी महिला फुटबॉल टीम हुई बाहर, डोनाल्ड ट्रंप ने अपने ही स्टार खिलाड़ी का उड़ाया मजाक

Washington: संयुक्त राज्य अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने बीते पांच अगस्त को ऑस्ट्रेलिया को हराकर कांस्य पदक जीतने वाली अमेरिकी महिला ओलंपिक फुटबॉल टीम की आलोचना की है. 77 वर्षीय ट्रंप ने एक बयान में कहा, ‘अगर वामपंथी पागलों के एक कट्टरपंथी नेतृत्व वाली समूह द्वारा हमारी फुटबॉल टीम को जगाया नहीं गया होता तो उन्होंने कांस्य के बजाय स्वर्ण पदक जीता होता.’ उन्होंने कहा कि ‘जागने का मतलब है आप हार गए, जो कुछ भी है वॉकस्टर्स खराब हो जाता है और हमारी फुटबॉल टीम निश्चित रूप से खराब हो गई है.’ पूर्व राष्ट्रपति ने कहा, ‘उन्हें टीम में सामाजिक न्याय के संबंध में वामपंथी विचार या दृष्टिकोण रखने वालों की जगह देशभक्तों को लाना चाहिए और फिर से जीतना शुरू करना चाहिए.’

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ने महिला स्टार खिलाड़ी मेगन रैपिनो सहित टीम के अन्य सदस्यों पर निशाना साधा है. उन्होंने रैपिनो को खासकर अपना निशाना बनाया और उन्हें ‘बैंगनी बालों वाली महिला’ खिलाड़ी से पुकारा. ट्रंप ने कहा कि उन्होंने बहुत खराब खेला. भले ही उन्होंने टीम के लिए चार में से दो गोल किए, जिसमें एक हैरतअंगेज कॉर्नर भी शामिल था.

बता दें रैपिनो डोनाल्ड ट्रंप के सबसे खुले आलोचकों में से एक हैं और उन्होंने पहले 2020 के डेमोक्रेटिक प्राइमरी के दौरान सीनेटर एलिजाबेथ वॉरेन का समर्थन किया था.

पहले भी इस तरह की टिप्पणी कर चुके हैं ट्रंप:

ट्रंप पहले भी अपने पद पर रहते हुए व्हाइट हाउस का दौरा करने से इनकार करने वाली रैपिनो की आलोचना कर चुके हैं. उन्होंने पिछले महीने के अंत में एरिजोना में एक रैली के दौरान स्वीडन के खिलाफ मिली अमेरिकी महिला फुटबॉल टीम का जश्न मनाया था.

Leave a Comment