Rohit Sharma ने तोड़ दिया विश्व कप का बड़ा कीर्तिमान, बन गए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले कप्तान

Rohit Sharma IND vs AUS ODI World Cup 2023 Final : आईसीसी वर्ल्ड 2023 का सबसे बड़ा मुकाबला आज अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेला जा रहा है। लगातार अच्छा प्रदर्शन करने के बाद रोहित शर्मा की कप्तान वाली भारतीय टीम फाइनल में पहुंची है। उसका मुकाबला पैट कमिंस की कप्तानी वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम से जारी है। आज के मैच में पैट कमिंस ने टॉस जीता और पहले गेंदबाजी का फैसला किया। इसके बाद रोहित शर्मा और शुभमन गिल बतौर ओपनर मैदान में उतरे। रोहित शर्मा ने न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलिमयन का बड़ा रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिया। अब वे एक वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले कप्तान बन गए हैं।

Rohit Sharma ने तोड़ दिया केन विलियमसन का 2019 वर्ल्ड कप का रिकॉर्ड 

वनडे विश्व कप के एक सीजन में बतौर कप्तान सबसे ज्यादा रन बनाने का कीर्तिमान अब तक न्यूजीलैंड के केन विलियमसन के नाम था। उन्होंने साल 2019 के विश्व कप में 578 रन बनाने का काम किया था। उनकी टीम भी उस साल फाइनल में गई थी, लेकिन खिताबी भिड़ंत में ऑस्ट्रेलिया ने उसे हराकर ट्रॉफी पर कब्जा कर लिया था। लेकिन अब रोहित शर्मा (Rohit Sharma) उनसे आगे निकल गए हैं। जब फाइनल मैच शुरू नहीं हुआ था, तब तक रोहित शर्मा ने दस मैचों में 550 रन बनाए थे, लेकिन इसके बाद उन्होंने जैसे ही छक्का लगाकर अपने 30 रन पूरे किए, वे एक सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले कप्तान बन गए हैं।

इन कप्तानों ने भी बनाए हैं विश्व कप में बतौर कप्तान सबसे ज्यादा रन 

रोहित शर्मा (Rohit Sharma) और केन विलियमसन तो इस वक्त टॉप पर हैं, लेकिन इसके बाद वो कौन से बल्लेबाज हैं, जिन्होंने बतौर कप्तान वर्ल्ड कप के एक सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाए हैं। साल 2007 में श्रीलंका के कप्तान महेला जयवर्धने थे, उन्होंने उस साल 548 रन ठोके थे। वहीं साल 2007 में ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग ने बतौर कप्तान 539 रन बना दिए थे। वहीं साल 2019 में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान रहे एरॉन फिंच ने 507 रन बनाए थे। बाकी कोई भी कप्तान वर्ल्ड कप में 500 से ज्यादा का आंकड़ा पार नहीं कर पाया है।

एक वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले कप्तान

597 : रोहित शर्मा (2023)
578 : केन विलियमसन (2019)
548 : महेला जयवर्धने (2007)
539 : रिकी पोंटिंग (2007)
507 : एरॉन फिंच (2019)
482 : एबी डीविलियर्स (2015)
465 : सौरव गांगुली (2003)
465 : कुमार संगकारा (2011)

पैट कमिंस ने टॉस जीतकर चुनी पहले गेंदबाजी 

इस बीच जब टॉस हुआ तो भले ही पैट कमिंस ने टॉस जीता, लेकिन उन्होंने पहले गेंदबाजी का फैसला किया। कमिंस का मानना था कि बाद में जब रात में मैच होगा तो ओस गिर सकती है, जिसका फायदा उनके गेंदबाज उठा सकते हैं। वहीं जब रोहित शर्मा से बात की गई तो उन्होंने कहा कि वे अगर टॉस जीतते तो पहले बल्लेबाजी ही करते, यानी टॉस हारने के बाद भी उन्हें वही मिल गया, जो वे करना चाहते थे। अब देखना होगा कि भारतीय टीम की जब पारी समाप्त होगी तो कितने रन बनाने में कामयाब होती है।