Prithvi Shaw | Prithvi Shaw ने ठोकी Double Century, लगातार बेहतरीन प्रदर्शन के बावजूद क्यों नहीं लिए जा रहे टीम इंडिया में, सेलेक्टर्स कठघरे में

vijay-hazare-trophy-prithvi-shaw-records-the-highest-score-ever-for-a-captain-in-the-mens-list-a-cricket

File Photo

-विनय कुमार

टीम इंडिया की तरफ से खेले अब तक के अन्तर्राष्ट्रीय टेस्ट, वनडे और T20 के कई मैचों में शानदार बल्लेबाज़  का नज़राना पेश कर चुके जानदार बल्लेबाज़ पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw Double Century) को भले ही श्रीलंका के खिलाफ सीरीज की टीम इंडिया में नहीं लिया गया, लेकिन, डोमेस्टिक क्रिकेट उनका प्रदर्शन में लगातार बढ़िया देखा जा रहा है। ताज़ा Ranji Trophy Tournament, 2023 में पृथ्वी शॉ ने डबल सेंचुरी ठोक दी है।

गौरताब है कि पृथ्वी शॉ ने मुंबई टीम की तरफ से बल्लेबाज़ी करते हुए असम के खिलाफ (Assam vs Mumbai Ranji Trophy Tournament, 2023 Prithvi Shaw) डबल सेंचुरी ठोकी। इस मैच में उन्होंने 164 गेंदों में 150 का आंकड़ा छूआ और 235 गेंदों में 200 के आंकड़े को। 

आपको याद दिला दें कि रणजी ट्रॉफी के इस ताज़ा सीजन में इस डबल सेंचुरी से पहले पृथवी शॉ के बल्ले से सिर्फ एक हाफ सेंचुरी निकली थी। अब इस ताज़ा डबल सेंचुरी से एक बार फिर उनके टीम इंडिया में शामिल किए जाने का दावा मजबूत होगा। और, हो सकता है भारत के दौरे पर सीरीज खेलने आ रही ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पृथ्वी शॉ के नाम पर टीम सेलेक्टर्स विचार करें।

यह भी पढ़ें

फिलहाल, मुंबई की टीम डोमेस्टिक क्रिकेट में Elite Group-B में दूसरे पायदान पर है। इतिहास बताता है कि मुंबई ने 41 बार की रणजी ट्रॉफी जीती है। पूरी संभावना है कि अबकी बार भी वह चैंपियन बन जाए। लेकिन, क्रिकेट है, कुछ भी हो सकता है।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का इतिहास बताता है कि पृथ्वी शॉ ने अब तक कुल 5 टेस्ट मैच, 6 ODI और 1 T20I मैच टीम इंडिया की तरफ़ से खेले हैं। लगातार बढ़िया प्रदर्शन के बावजूद टीम इंडिया में शामिल नहीं किए जाने को लेकर टीम सेलेक्टर्स आम जनता के सवालों के कठघरे में नजर आ रहे हैं।

Leave a Comment